नीतीश करें आत्मचिंतन आखिर हर जगह क्यों हो रहा विरोध: तेजस्वी

पटना: राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री ने तेजस्वी प्रसाद यादव ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने राज्य की गिरती कानून-व्यवस्था और महादलितों पर लगातार हो रहे हमले को लेकर कहा कि अगर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राज्य की कानून व्यवस्था नहीं संभाल सकते, तो उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए।

तेजस्वी ने नीतीश के विकास कार्यो की समीक्षा यात्रा के बदले ‘पश्चाताप यात्रा’ करने की सलाह देते हुए पूछा कि आखिर उनकी यात्रा के दौरान सभी जिलों में विरोध क्यों हो रहा है? तेजस्वी ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि नीतीश को आत्मचिंतन करना चाहिए कि हर जगह उनका विरोध क्यों हो रहा है।

बिहार में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी ने पिछले दिनों बक्सर के एक गांव में मुख्यमंत्री के काफिले पर हमले को ‘इंटेलिजेंस फेल्योर’ बताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के काफिले पर हमले हो रहे हैं, ऐसे में प्रशासन का असफल होना नहीं है तो क्या है? उन्होंने कहा कि जद (यू) के लोग सरकार की नाकामी छिपाने के लिए राजद पर आरोप लगा रहे हैं।

इसे भी पढ़िए: बावरिया ने साधा पीएम पर निशाना, कहा- देश को सबसे बड़ा खतरा मोदी-शाह से

उन्होंने चुनौती देते हुए कहा, “अगर हमलोग दोषी हैं तो सरकार कार्रवाई करे। हमलोगों को जेल भेज दे और अगर कानून-व्यवस्था की स्थिति नहीं सुधार पा रहे हैं तो मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।”

तेजस्वी ने सरकार पर महादलित और गरीबों को प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए कहा कि बक्सर के नंदन गांव में मुख्यमंत्री के काफिले पर हमले के आरोप में सरकार दलितों पर अत्याचार कर रही है। उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा, “नीतीश सरकार दलितों पर डंडे बरसाना बंद करे, नहीं तो राजद पूरे राज्य में बड़ा आंदोलन करेगा। मैं खुद शनिवार को नंदन गांव जाऊंगा और स्थिति का जायजा लूंगा।”

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper