नेताओं की सिक्योरिटी वापस पर बोले भगवंत मान- पुलिस स्टेशनों को खाली नहीं छोड़ सकते, जनता की सुरक्षा ज्यादा जरूरी

चंडीगढ़: पंजाब के मुख्यमंत्री बनने जा रहे भगवंत मान ने कहा कि उनके लिए किसी नेता की सिक्योरिटी से ज्यादा जरूरी है आम जनता की सुरक्षा। उन्होंने कहा है कि वो पुलिस स्टेशन को खाली नहीं छोड़ सकते। बता दें कि मान द्वारा पंजाब की गद्दी संभालने से पहले ही प्रदेश में हलचल मच गई है। मान ने सभी पूर्व मंत्रियों और विधायकों की सिक्योरिटी वापस लेने का फैसला किया है। कहा जा रहा है कि इसके तहत करीब 122 नेताओं की सिक्योरिटी वापस ली गई है। शनिवार को भगवंत मान ने पंजाब के डीजीपी वीके भावरा से मुलाकात भी की थी।

अब भगवंत मान ने अपने इस फैसले को लेकर सफाई दी है। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि पंजाब के लोगों की सुरक्षा कुछ लोगों की सुरक्षा से ज्यादा महत्वपूर्ण है। पहले राजनेताओं के घरों के बाहर पुलिस कर्मियों को तैनात किया जाता था जबकि पुलिस थाने खाली रहते थे। हमारे लिए 3 करोड़ से अधिक लोगों की सुरक्षा सबसे महत्वपूर्ण है। पुलिस अपना काम करेगी

बता दें कि जिनकी सुरक्षा वापस ली गई है उस लिस्ट में ज्यादातर पंजाब कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के नाम शामिल हैं, जिन्हें पिछली सरकार के तहत सुरक्षा मिली थी। सूची में उन कांग्रेस विधायकों के नाम भी शामिल हैं जो इस बार भी अपनी सीटों से जीतने में सफल रहे, लेकिन अब कैबिनेट मंत्री नहीं होंगे। पूर्व कैबिनेट मंत्रियों और पूर्व विधानसभा अध्यक्ष सहित वरिष्ठ नेता भी उस सूची का हिस्सा हैं जिनकी सुरक्षा वापस लेने की तैयारी है।

भगवंत मान ने शनिवार को राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित से मुलाकात कर राज्य में सरकार बनाने का दावा पेश किया है। शपथ ग्रहण समारोह 16 मार्च को दोपहर 12 बजकर 30 मिनट पर नवांशहर जिले में स्वतंत्रता सेनानी भगत सिंह के पैतृक गांव खटकड़ कलां में होगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper