नेपाली पीएम ओली मोदी से करेंगे नोटबंदी पर बात

अखिलेश अखिल

पड़ोसी देश नेपाल के प्रधानमन्त्री केपी शर्मा ओली शुक्रवार को तीन दिवसीय यात्रा पर भारत पहुंच रहे हैं। पीएम बनने के बाद ओली की यह पहली विदेश यात्रा है। माना जा रहा है कि पीएम ओली की इस यात्रा से भारत और नेपाल के बीच सम्बन्ध और मधुर होंगे। दोनो देशों के बीच कई मसलों पर बातचीत होनी है। नेपाल के चीन के साथ बढ़ते सम्बन्ध को देखते हुए कोली की इस यात्रा को कुटनीतिक नजरिये से भी देखा जा रहा है।

खबर के मुताबिक, नेपाली पीएम कोली अपनी भारत यात्रा के दौरान पीएम मोदी से नोट बंदी से जुड़े मसलों पर भी बात करेंगे और माना जा रहा है कि नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली भारत में नोटबंदी के दौरान नेपाल में बड़ी संख्या में जमा भारतीय नोट को वापस करने की करेंगे। संभव है इस मांग से पीएम मोदी को परेशानी भी हो। बता दें कि नवंबर 2016 को जो नोटबंदी हुई थी उसके बाद नेपाल में भारत में बंद हो चुके 500 और 1000 के कई करोड़ नोट पहुंच गए थे। अब नेपाल चाहता है कि भारत इन नोटों को वापस ले ले।

नेपाल के पास नोटबंदी में बंद हो चुके 950 करोड़ रुपए के पुराने नोट पड़े हुए हैं। नेपाल और भारत दोनों को इस बात पर सहमति कायम करनी है कि कैसे 950 करोड़ यानी 146 मिलियन डॉलर रुपए वाले पुराने नोटों की अदला-बदली की जाए। यह नोट नेपाल के नागरिकों और कुछ अनौपचारिक सेक्‍टर्स के पास पड़े हुए हैं। आपको बता दें कि आठ नवंबर 2016 में पीएम मोदी ने 500 और 1000 के नोट को बंद करने का ऐलान किया था।

नोटबंदी का मकसद गैर-कानूनी तरीके से लोगों के पास जमा धन को बाहर करना था और साथ ही उन संदिग्‍ध आतंकियों पर भी लगाम लगाना था जो जाली नोटों की मदद से अपनी गतिविधियों को संचालित कर रहे थे। देश में नोटबंदी के बाद पुराने नोट नेपाल और भूटान में भी फंस गए। इन दोनों देशों में भारतीय मुद्राओं का प्रयोग जमकर होता है। नेपाल के पीएम ओली ने मंगलवार को नेपाली संसद को जानकारी दी, ‘भारत में हुई नोटबंदी ने नेपाली नागरिकों को काफी परेशान किया है। जब मैं अपनी भारत यात्रा पर भारतीय नेताओं और पीएम मोदी से मुलाकात करूंगा तो इस मुद्दे को हल करने की अपील करूंगा।’

भारत, नेपाल का सबसे बड़ा व्‍यापार साझीदार है और भारत की तरफ से नेपाल को रोजमर्रा की जिंदगी में प्रयोग होने वाले सामान का बड़े पैमाने पर निर्यात किया जाता है। नेपाली बिजनेसमैन और यहां के नागरिक भारतीय मुद्रा का प्रयोग जमकर करते हैं और साथ ही भारतीय नोटों को बचत के तौर पर घरों में भी जमाकर रखते हैं। बता दें कि भारत नेपाल के बीच कई तरह के समझौते भी होने हैं लेकिन नेपाल की तरफ से सबसे बड़ी मांग नोटबंदी के दौरान नेपाल में जमा नोटों की वापसी को लेकर है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper