नेहरू युवा केन्द्र द्वारा पड़ोस युवा संसद का सांसद राज्य सभा की उपस्थिति में हुआ आयोजन

सोनभद्र,भारत वसुधैव कुटुम्बकम के सिद्धांत के साथ अपनी नीतियों और देश की आंतरिक सुदृढ़ता के साथ विश्व शक्ति बन कर उभर रहा है। यह कहना था राज्यसभा सांसद रामसकल का जो मुख्य अतिथि के रूप में अपना संबोधन दे रहे थे । उन्होंने आगे कहा कि अपनी सांस्कृतिक परम्पराओं के साथ नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में भारत विश्वगुरु बनने की ओर अग्रसर है।
युवा कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार के नेहरू युवा केन्द्र द्वारा विंध्य कन्या महाविद्यालय में आयोजित पड़ोस युवा संसद में वैश्विक पटल पर भारत का अभ्युदय विषय को संवाद का विषय बनाया गया था । अतिथियों द्वारा दीप प्रज्ज्वलन के पश्चात माँ सरस्वती और स्वामी विवेकानंद के चित्र पर माल्यार्पण के पश्चात अतिथियों का स्वागत किया गया । नेहरू युवा केंद के उप निदेशक अनिल कुमार सिंह ने अतिथियों का स्वागत करते हुए विषय प्रवर्तन किया।
डॉ जितेंद्र कुमार सिंह संजय ने चाणक्य के संदर्भ का उल्लेख करते हुए राष्ट्रवाद की वर्तमान प्रासंगिकता की चर्चा की। पूर्व विधायक तीरथराज ने कहा कि भारतीय तिरंगे की मजबूती और भारत के प्रति वैश्विक सम्मान में बढोत्तरी को देखते हुए कहा जा सकता है कि वह दिन दूर नहीं जब भारत विश्व गुरु की बागडोर संभालेगा . युवा संसद की अध्यक्षता कर रहे राष्ट्रपति पदक प्राप्त शिक्षक ओमप्रकाश त्रिपाठी ने कहा कि मानवता और राष्ट्रधर्म से बड़ा कोई धर्म नहीं है। उन्होंने कहा कि उच्च जीवन मूल्यों के साथ शिक्षित भारत को आगे बढ़ने से कोई रोक नहीं सकता।
पड़ोस युवा संसद को निकिता, विजया मिश्रा, मीरा देवी , गुंजन पांडेय, निर्भय पटेल, नीतू मौर्या, दीपिका श्रीवास्तव, प्रगति मौर्या व अलकमल तबस्सुम ने संबोधित किया . अतिथियों और युवा संसद के प्रति आभार व्यक्त करते हुए
इस अवसर पर रमेश कुमार जायसवाल, हृदय शंकर, गुरु शंकर दुबे, डायट प्रवक्ता गोविंद गुप्ता सहित कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। विभिन्न विद्यालयों और युवा संगठनों के सैकड़ों छात्र छात्राओं ने कार्यक्रम में उत्साहपूर्वक भाग लिया ।

रवीन्द्र केसरी सोनभद्र

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
E-Paper