नोएडा पुलिस ने महिला की मौत के मामले में फर्जी डॉक्टर को किया गिरफ्तार

नोएडा । नोएडा पुलिस ने एक ऐसे फर्जी डॉक्टर को गिरफ्तार किया है, जिसके इलाज से एक महिला पहले कोमा में चली गई और फिर उसकी मौत हो गई। ग्रेटर नोएडा वेस्ट में 26 अगस्त को महिला की मौत हो गई। महिला की मौत आईवीएफ क्रिएशन वल्र्ड सेंटर के एमडी की लापरवाही की वजह से हुई थी। 19 अगस्त को इलाज के दौरान डॉक्टर की लापरवाही बरतने के चलते दो महीने की गर्भवती महिला कोमा में चली गई थी। पुलिस ने आरोपी डॉक्टर प्रियरंजन को गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में डॉक्टर ने अपनी एमबीबीएस की डिग्री दिखाई जो कि फर्जी निकली। ग्रेटर नोएडा वेस्ट के इको विलेज 2 में स्थित था सेन्टर। ये घटना बिसरख थाना इलाके की है।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, थाना बिसरख पुलिस द्वारा महिला का इलाज करने के दौरान घोर लापरवाही बरतने के आरोपी अभियुक्त (फर्जी डाक्टर) को दिनांक 28 अगस्त को गिरफ्तार करने व जांच के दौरान एमबीबीएस की डिग्री फर्जी पाये जाने पर कार्यवाही की गई है। 19 अगस्त को आईवीएफ क्रिएशन वल्र्ड सेन्टर, ईको विलेज-2 मार्ट, थाना बिसरख, गौतमबुद्धनगर में एक महिला ललिता इन्दिरापुरम, गाजियाबाद से इलाज के लिए आयी।

इस सम्बन्ध में ललिता के पति चन्द्रभान रावत द्वारा दिये गये प्रार्थना पत्र के आधार पर थाना बिसरख केस दर्ज कर विवेचना की जा रही है।

प्रियरंजन ठाकुर द्वारा विवेचना के दौरान उपलब्ध कराये गये शिक्षा प्रपत्रों में अपनी वर्ष 2005 की एमबीबीएस की डिग्री उपलब्ध करायी, जो भूपेन्द्र नारायण यूनीवर्सिटी लालूनगर मधोपुरा बिहार से जारी की गयी है। उक्त संस्थान से प्रियरंजन ठाकुर द्वारा उपलब्ध करायी गयी एमबीबीएस की डिग्री की जांच करायी गयी तो डिग्री फर्जी पायी गयी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper