नौकरी का झांसा देकर देह व्यापार के धंधे में धकेलने वाली संचालिका गिरफ्तार

लखनऊ: गरीब परिवार व छोटे जनपदों की लड़कियों को अस्पताल व निजी कम्पनी में नौकरी दिलाने का झांसा देकर देह व्यापार के नर्क में धकेलने वाली संचालिका को आखिरकार जानकीपुरम पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपित संचालिका शोभा उर्फ सोमवती मूलत: बदायूं की है। वह यहां जानकीपुरम सेक्टर-6 में रहकर देह व्यापार चलाती थी। करीब चार दिन पहले पुलिस ने दो दम्पति को गिरफ्तार कर इसका भण्डाफोड़ किया था लेकिन शोभा फरार चल रही थी। पुलिस अव भी फरार मनीशंकर शुक्ल व अन्य की तलाश कर रही है।

इंस्पेक्टर जानकीपुरम अमरनाथ वर्मा ने बताया कि आरोपित शोभा के पति चन्द्रपाल सिंह एयरफोर्स से रिटार्यड हैं। उन्हें पत्नी की करतूत के बारे में पता था। कई बार विरोध किया लेकिन शोभा के न सुधरने पर वह बदायूं जाकर रहने लगे। उनका कहना है कि अब तक की पड़ताल में सामने आया कि शोभा इस जिस्मफरोशी के दलदल में करीब आधा दर्जन से अधिक लड़कियों को धकेल चुकी है। इंस्पेक्टर ने बताया कि इसका खुलासा बनारस की एक युवती ने किया था जो किसी तरह इनके चंगुल से बचकर भागी थी।

रांग कॉल के जरिये पीड़िता की सोनी से बात हुई। पीड़िता ने मां की तबीयत खराब होने के चलते परिवार की आर्थिक स्थिति खराब होने की बात कही थी। उसने कहा था कि वह नौकरी की तलाश कर रही है। इस पर सोनी ने उसे एक अस्पताल में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी की नौकरी की बात कहकर लखनऊ बुलाया था। सोनी के बहकावे में फंसी युवती करीब दस दिन पहले चारबाग रेलवे स्टेशन पर उतरी। स्टेशन पर उसे सोनी व सुमन मिली। सोनी ने युवती की सुमन से मुलाकात करायी। उसके बाद दोनों उसे लेकर तेलीबाग स्थित घर ले आयी।

वहां पर दो युवक भी थे। सुमन ने सुरजीत को अपना पति व सोनी ने तौहीद को अपना पति बताया। पीड़ित युवती ने बताया कि पहले दिन उसे अच्छे से खिलाया-पिलाया गया था और फिर उससे गलत काम करवाने लगे। विरोध करने पर उसे कमरे में बंद कर मारा-पीटा जाता था। पीड़िता हैवानियत का दंश झेलते हुए भागने का रास्ता तलाश रही थी। इसी दौरान बीते 2 जनवरी को तौहीद व सुरजीत उसे गाड़ी पर बैठाकर जानकीपुरम सेक्टर-6 में शोभा के घर पर लेकर पहुंचे। इससे पहले कि संचालिका फिर उसे किसी कस्टमर के पास बैठाया लेकिन वह पेट दर्द का बहाना बनाकर बच गयी।

पिटाई के बाद किसी तरह रात काटी और फिर 3 जनवरी की तड़के पीड़िता घर से भाग निकली। रास्ते में मार्निग वॉक कर रहे बुजुर्ग ने उसकी मदद की और थाने तक पहुंचाया। पुलिस ने छापेमारी की लेकिन आरोपित भाग निकले। सर्विलांस की मदद से पुलिस ने तौहीद, उसकी पत्नी सोनी, सुरजीत व उसकी पत्नी सुमन को गिरफ्तार किया था। रविवार सुबह पुलिस ने फरार चल रही संचालिका शोभा उर्फ सोमवती को भवानी बाजार चौराहे से गिरफ्तार कर लिया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper