पंजाब में ED का बड़ा एक्शन, Fastway के मालिक के घर पर की रेड- 8 जगहों पर छापेमारी जारी

चंडीगढ़: पंजाब में आज ईडी का बड़ा एक्शन हुआ है। जानी मानी ट्रांसपोर्ट कंपनी जुझार ट्रांसपोर्ट और फास्ट वे केबल कंपनी के मालिक गुरदीप सिंह के घर पर ED ने रेड मारी है। जानकारी सामने आ रही है कि ईडी की टीम ने 8 जगहों पर छापेमारी की है। ईडी भ्रष्टाचार के मामले में कुछ ठेकेदारों के खिलाफ भी कार्रवाई कर रही है।

बताया जा रहा है कि ED की टीम सुबह ही उनके घर पर पहुंची थी और जांच की जा रही है। प्रथम जानकारी के अनुसार ग्रीन सिटी में उनके घर और फास्टवे के कार्यालय में यह टीमें जांच कर रही हैं। सूत्रों के अनुसार यह रेड ED की है जिसकी जांच करवाई जा रही है। लुधियाना में यह दूसरी रेड है जो अकाली नेता के घर पर हुई है। गुरदीप सिंह शिरोमणि अकाली दल बादल से संबंधित हैं और सुखबीर सिंह बादल के काफी नजदीक भी हैं। इससे पंजाब की राजनीति में बड़ा उबाल आने वाला है।

बताया जा रहा है कि पंजाब में ED की तरफ आठ जगह पर छापेमारी की जा रही है। बता दें कि कुछ दिन पहले शिरोमणि अकाली दल बादल के विधायक मनप्रीत सिंह अयाली के बाद भी कार्रवाई हुई थी। इनकम टैक्स के अधिकारियों की तरफ से नौ दिन पहले यह जांच की गई थी मगर यहां से विभाग को कुछ भी नहीं मिला था। अब अकाली नेता गुरदीप सिंह पर बड़ी कार्रवाई की जा रही है।

वहीं पंजाब कांग्रेस के प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू ने इसे सही ठहराया है। उनकी तरफ से ट्वीट किया गया है कि 5 साल पहले, मैंने मल्टी सिस्टम ऑपरेटर- फास्टवे के एकाधिकार से छुटकारा पाने के लिए, हजारों करोड़ करों की वसूली के लिए, स्थानीय ऑपरेटरों को सशक्त बनाने और लोगों को सस्ती केबल देने की नीति सामने रखी थी। फास्टवे के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई के बिना, पंजाब के समाधान का सुझाव देना गलत है।

बता दें कि गुरदीप सिंह पंजाब में फास्ट वे आप्ररेटर कंपनी के मालिक हैं। वह शिरोमणि अकाली दल के नेता भी हैं और पंजाब में बड़ी कंपनी जुझार ट्रांस्पोर्ट के मालिक भी हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper