पतंजलि ने किया कोरोना की दवा बनाने का दावा, 80 प्रतिशत लोग हुए ठीक

नई दिल्ली: भारत समेत दुनियाभर के तमाम देशों में कोरोना की दवा बनाने पर शोध चल रहे हैं। कई वैज्ञानिकों का दावा भी है कि इस साल के अंत तक कोरोना वैक्सीन बनकर तैयार हो जाएगी। अब इस बीच स्वदेशी आयुर्वेदा कंपनी पतंजलि आयुर्वेद ने दावा किया है कि कोरोना के खिलाफ एक दवा तैयार करना में सफलता हासिल हुई है। पतंजलि आयुर्वेद के को-फाउंडर आचार्य बालकृष्ण का कहना है कि पंतजलि ने कोरोना की दवा बनाने में सफलता हासिल कर ली है। आचार्य बालकृष्ण ने यह भी कहा कि इस दवा से अब तक एक हजार से ज्यादा लोग ठीक भी हो चुके हैं। आचार्य बालकृष्ण का दावा है कि कोरोना के खिलाफ इस दवा को अलग-अलग जगह पर कई कोरोना पॉजिटिव मरीजों को यह दिया गया है, जिसमें से तकरीबन 80 फीसदी लोग बीमारी से रिकवर हो चुके हैं।

आचार्य बालकृष्ण ने बताया कि कोरोना वायरस ने जैसे ही चीन समेत पूरे विश्व में दस्तक दी तो हमने अपने संस्थान में हर विभाग को केवल कोरोना के इलाज के लिए उपयोग होने वाली दवा बनाने के काम पर लगा दिया। जिसका नतीजा अब सामने या है। उन्होंने कहा कि इस दवा का सफल परीक्षण करने के साथ-साथ इसे तैयार भी कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि शास्त्रों, वेदों को पढ़कर और उसे विज्ञान के फॉर्मूले में डालकर आयुर्वेदिक चीजों से इस दवा को तैयार किया गया है। आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि कोरोना के इलाज के लिए इस दवा को बनाने के लिए पतंजलि के सैकड़ों वैज्ञानिक दिन-रात काम पर लगे रहे।

बाबा रामदेव के अनुसार, गिलोय और अश्वगंधा संक्रमित रोगियों को पहले ही दिए जा चुके हैं और इन रोगियों में रिकवरी की दर मृत्यु दर के साथ 100 प्रतिशत थी। हालांकि अभी कुछ ​​परीक्षण अभी चल रहे हैं और इस बाबत चीजें थोड़े समय में ही स्पष्ट हो जाएंगी, बाबा रामदेव के अनुसार, पतंजलि द्वारा अनुसंधान पूरा हो गया है और जल्द ही उनके वैज्ञानिक शोध को दुनिया के सामने पेश किया जाएगा। बाबा रामदेव ने यह भी कहा कि आयुर्वेद में घातक कोरोनावायरस के इलाज की शक्ति है। आयुर्वेद न केवल कोरोना वायरस के लक्षणों का इलाज कर सकता है, बल्कि यह इस संक्रमण को जड़ से खत्म भी कर सकता है। दूसरी ओर, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) दिल्ली के वैज्ञानिकों के एक समूह ने एआईएसटी, जापान के सहयोग से पता लगाया है कि अश्वगंधा में कोविड-19 से लड़ने और इलाज करने की क्षमता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper