पति की हत्या कर किचन में दफनाया, एक महीने तक पत्नी बनाती रही उसी चूल्हे पर खाना

नई दिल्ली: मध्यप्रदेश में हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां महिला ने अपन पति का कत्ल कर उसे किचन में ही दफना दिया। इतनी ही नहीं पत्नी ने अपने पति की किचन में ही कब्र बनाकर रखी। महिला बिना डरे एक महीने तक उसी कब्र पर खाना बनाती रही। यह हैरतअंगेज मामला मध्यप्रदेश के अनूपपुर जिले का है। जानकारी के अनुसार 32 साल की एक महिला प्रमिला ने अपने वकील पति महेश बैनेवाल की हत्या कर उसे किचन में वहां दफना दिया जहां कच्ची जगह पर वह खाना बनाती थी।

गुरुवार को अनूपपुर जिले की पुलिस ने उसे अपने पति की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया। महेश एक महीने से अमरकंटक पुलिस थाना के करोंदी गांव से लापता बताया जा रहा था। 22 अक्टूबर को महेश की पत्नी प्रमिला ने अपने पति के गुमशुदा होने की रिपोर्ट थाने में लिखवाई थी। पति की हत्या कर किचन में दफनाया, एक महीने तक पत्नी बनाती रही उसी चूल्हे पर खाना पुलिस इस मामले को गुमशुदगी के रूप में ही देख रही थी कि तभी 21 नवंबर को इस मामले में एक ट्व‍िस्ट आ गया। मृतक के बड़े भाई अर्जुन बैनेवाल ने पुलिस से कहा कि उसके भाई के घर में कुछ संदिग्ध है।

अर्जुन ने पुलिस को बताया कि वह कई बार अपने छोटे भाई के घर गया लेकिन उसकी पत्नी ने हर बार उसे टरका दिया। अमरकंटक थाने के एसएचओ भानू प्रताप सिंह ने बताया कि इस सूचना पर वह अपनी टीम के साथ मृतक के घर पहुंचे तो उन्हें भी कुछ दुर्गंध का अहसास हुआ। जब वह किचन के पास गए तो दुर्गंध और तेज हो गई। जब किचन में दुर्गंध वाली जगह को खोदा गया तो उसमें से मृतक का शव मिला।

इस पर प्रमिला ने पुलिस को बताया कि उसके पति के बड़े भाई गंगाराम बैनेवाल की पत्नी के साथ अवैध संबंध थे। तब गंगाराम और उसने मिलकर अपने पति को ठिकाने लगाने का प्लान बनाया। इसका गंगाराम ने विरोध करते हुए कहा कि यह औरत बहुत चालाक है, इसके चेहरे पर मत जाइये। मैं इस कत्ल में शामिल नहीं हूं। अब पुलिस इस मामले की जांच में जुट गई है। बता दें कि मृतक महेश और प्रमिला के चार बच्चे हैं और चारों लड़कियां हैं।

पोप फ्रांसिस ने देह व्यापार पीड़िताओं के सम्मान का किया आह्वान

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper