पति ने जबरदस्ती संबंध बनाने की कोशिश की, पत्नी ने कर दी हत्या

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में एक पत्नी ने अपने पति की इसलिए हत्या कर दी कि उसका पति उसके साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाता था। हत्या की रात भी पति ने ऐसा ही किया जिसपर पत्नी ने पति को मौत के घाट उतार दिया। पिछले हफ्ते अपने पति की हत्या करने वाली अनिंदिता पॉल डे ने पुलिस को इसके पीछे की वजह बताई। अनिंदिता ने बताया कि उसका पति उसका आए दिन यौन उत्पीडऩ करता था।

न्यू टाउन स्थित आवास में रहने वाला दंपती पेशे से वकील था। अनिंदिता ने बताया कि पिछले हफ्ते मेडिकल सलाह के खिलाफ जाकर उसके पति ने उसके साथ जबदज़्स्ती करने की कोशिश की जिससे गुस्से में आकर अनिंदिता ने पति रजत डे की हत्या कर दी।

मामले की जांच कर रहे एक पुलिस अधिकारी ने बताया, महिला ने दावा किया है कि उसका पति शारीरिक और मानसिक रूप से उत्पीडऩ करता था। इस वजह से दोनों के बीच दूरियां पैदा हो गईं। रविवार को इसी तरह की एक हरकत पर अनिंदिता ने उसकी हत्या कर दी। हालांकि हम उसके बयानों की जांच कर रहे हैं क्योंकि वह कई बार अपने बयान बदल चुकी है।

इसी के साथ पुलिस इस तथ्य की भी जांच कर रही है कि उसने अकेले ही इस अपराध को अंजाम दिया था या फिर किसी ने उसकी मदद की थी। अनिंदिता के वकील चंद्रशेखर बाग ने बताया, अनिंदिता के पति ने उसका यौन शोषण किया था। दो महीने पहले, उनकी फैलोपियन ट्यूब की सर्जरी हुई थी जिसके बाद डॉक्टरों ने आराम करने की सलाह दी थी लेकिन रविवार को रजत ने अनिंदिता के साथ जबदज़्स्ती की थी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper