पत्नी का वायरल वीडियो देखकर पति का खौला खून, उठाया खौफनाक कदम

चित्रकूट: उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जनपद के शिवरामपुर थाना क्षेत्र के चकलागुरु गांव में अवैध सम्बन्धों के शक में एक पति ने अपनी पत्नी और दो मासूम बच्चियों की हंसिया से गला काट कर हत्या कर दी। शवों के पास गुमसुम हालत में बैठे आरोपी पति को देखकर ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। साथ ही हत्या में प्रयुक्त हंसिया भी बरामद कर ली है। आरोपी मानसिक रूप से अस्वस्थ बताया जा रहा है। पुलिस हत्या के पीछे पारिवारिक कलह और अवैध सम्बन्धों के होने का शक जता रही है।

जानकारी के मुताबिक शिवरामपुर थानाक्षेत्र के चकला गुरुबाबा गांव निवासी अजीत रैदास (36) ने गुरुवार रात पत्नी मैना देवी (32) व दो बच्चियों नंदिनी (8) पिंकी (6) व पिता दयाराम समेत परिवार के सभी सदस्यों के साथ भोजन किया और पत्नी व बच्चियों के साथ अपने कमरे में सोने चला गया। शुक्रवार तड़के तीन बजे अजीत ने मैना देवी और दोनों बेटियों नंदिनी व पिंकी की चाकू से गला रेत कर हत्या कर दी। शोर सुन कर परिजन व ग्रामीण आए तो अजीत शवों के पास बैठा रहा। लोगों ने मामले की सूचना पुलिस को दी।

तिहरे हत्याकांड की सूचना मिलने पर एसपी प्रताप गोपेन्द्र, अपर पुलिस अधीक्षक बलवंत चौधरी, सीओ सिटी विजेन्द्र द्विवेदी, कोतवाल कर्वी सुभाषचंद्र चौरसिया मौके पर पहुंचे। पुलिस ने आरोपी अजीत को गिरफ्तार कर लिया और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज पड़ताल शुरू कर दी। आरोपी के भाई विकास रैदास ने कहा कि उसका भाई चाचा की बातों में आकर पत्नी के अवैध सम्बन्ध होने का शक करने लगा था। कुछ दिन पहले उसकी पत्नी का एक वीडियो भी वायरल कर दिया गया था, जिसके बाद से अजीत काफी तनाव में आकर गुमसुम रहने लगा था।

वहीं पुलिस का कहना है कि आरोपी अजीत ने पारिवारिक कलह और पत्नी के किसी से अवैध संबंध होने की शंका को लेकर सामूहिक हत्याकांड को अंजाम दिया है। पिता दयाराम की तहरीर पर आरोपी अजीत के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर घटना में प्रयुक्त हसिया बरामद कर ली है। आरोपी को जेल भेज दिया गया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper