‘पद्मावत’ के बाद ब्राह्मणों के निशाने पर ‘मणिकर्णिका’, शूटिंग रोकने की बढ़ी मांग

अखिलेश अखिल

लखनऊ ट्रिब्यून दिल्ली ब्यूरो: पद्मावत के बाद मणिकर्णिका की बारी है। पद्मावत की कहानी खिलजी से जोड़कर बताया जा रहा था तो मणिकर्णिका की कहानी रानी लक्ष्मी बाई के एक अंग्रेज अफसर से जोड़कर बतायी जा रही है। फिल्म की शूटिंग चल रही है। ब्राह्मण समाज अब मणिकर्णिका को लेकर उत्पात मचाने की तैयारी में हैं। शूटिंग के दौरान रानी लक्ष्मी बाई की भूमिका कर रह रही कंगना रनौत की नाक काट कगई थी ,15 टाँके लगाने की खबर है। अब पद्मावत की क्षत्रियों की करणी सेना ने पद्मावत फिल्म को लेकर पूरे देश में बगावत का नजारा दिखाया। खूब राजनीति हुयी। मान मनौव्वल भी हुए।

पंचायत भी हुयी। कोई फायदा नहीं हुआ। अंत में सुप्रीम कोर्ट को सामने आना पड़ा। फिल्म रिलीज हुयी। अब पता चला कि करणी सेना खुश है। पता चला कि पद्मावत में क्षत्रिय राजाओं और उनके शान की खूब जयजयकार फिल्म में की गयी है। लेकिन फिल्म रिलीज होने से पहले वे फिल्म को देखने को तैयार नहीं थे। राजनितिक असर ये हुआ कि सरकार की नीतियों से परेशान क्षत्रिय समाज ने राजस्थान उप चुनाव में बीजेपी की खाट कड़ी कर दी।

फिल्म ‘पद्मावत’ ही काफी मुश्किल के बाद रिलीज हुई थी, लेकिन अब परेशानी के बादल कंगना रानौत की फिल्म ‘मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी’ पर भी मंडराने लगे हैं। राजस्थान में सर्व ब्राह्मण महासभा ने फिल्म का विरोध करना शुरू कर दिया है और ये लोग मांग कर रहे हैं कि राज्य में फिल्म की शूटिंग रोक दी जाए। ब्राह्मण महासभा का कहना है कि उनको सूत्रों से पता चला है कि रानी लक्ष्मीबाई और एक अंग्रेज के बीच में लव सॉन्ग शूट किया जा रहा। सभा ने इतिहास से छेड़छाड़ का आरोप लगाया है। महासभा के राज्य अध्यक्ष सुरेश मिश्रा ने सोमवार को कहा कि उन्हें शक है कि ये फिल्म जयश्री मिश्रा की विवादित किताब ‘रानी’ पर बन रही है।

मिश्रा ने कहा कि ब्राह्मण महासभा ने राजस्थान सरकार से तुरंत शूटिंग रोकने की मांग की है। उन्होंने यह ही कहा कि अगर तीन दिन में सरकार ने उनकी बात नहीं मानी तो वो अपने विरोध को और बढ़ा देंगे। उन्होंने राज्यपाल कल्याण सिंह और गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया से बात करने और मामले में दखल देने की इच्छा जाहिर की है। मिश्रा ने बताया कि उन्होंने फिल्म निर्माताओं को भी चिट्ठी लिखकर जवाब मांगा है और आश्वासन देने के लिए कहा है कि तथ्यों के साथ कोई छेड़छाड़ तो नहीं की गई। फिल्म की शूटिंग राजस्थान के जयपुर और आमेर में हो चुकी है, लेकिन झुनझुनु इलाके की शूटिंग बाकी है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper