परमहंस, अवैद्यनाथ व सिंघल की गैरमौजूदगी में हो रही विहिप की धर्म सभा की तैयारियां

लखनऊ ब्यूरो। राम मंदिर आंदोलन के शलाका पुरुष रहे परमहंस रामचंद्र दास, महंत अवैद्यनाथ और अशोक सिंघल की गैरमौजूदगी में विश्व हिंदू परिषद (विहिप) की रविवार को होने वाली धर्म सभा में राम भक्तों का जत्था अयोध्या पहुंचने लगा है। रामचंद्र दास, अवैद्यनाथ और सिंघल राम मंदिर आंदोलन के पर्याय बन गए थे, लेकिन अब यह तीनों ही इस दुनिया में नहीं हैं। इनकी अनुपस्थिति में विहिप का यह पहला बड़ा कार्यक्रम है।

धर्मसभा कल 11 बजे से शुरू होने की जानकारी दी गई है, लेकिन राम भक्तों का जत्था अयोध्या पहुंचना शुरू हो गया है। परिषद के एक पदाधिकारी के अनुसार आज ही हजारों की संख्या में राम भक्त पहुंच गए हैं। हालांकि कल तक यह संख्या लाखों में पहुंच जाने की संभावना है।

सुरक्षा के व्यापक बंदोबस्त के बीच भक्तमाल की बगिया परिक्रमा परिक्रमा मार्ग पर आयोजित धर्म सभा की तैयारियां लगभग पूरी हो गई है। पानी का छिड़काव तीन दिन से चल रहा है। धर्म सभा स्थल बड़ा होने के कारण सुरक्षाकर्मियों को खासी मशक्कत करनी पड़ सकती है।

कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए परिषद के उपाध्यक्ष और अशोक सिंघल के सहयोगी रह चुके चंपत राय कार्यक्रम स्थल पर ही रह रहे हैं। अयोध्या के महत्वपूर्ण संतो को धर्म सभा में लाने के लिए विशेष व्यवस्था की जा रही है। उन्हें मंच पर पहुंचने में कोई दिक्कत न हो इसका खासतौर पर ख्याल रखा जा रहा है।

धर्मसभा को हर हाल में सफल बनाने के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने पूरी ताकत झोंक दी है। संघ के सरकार्यवाह भैयाजी जोशी स्वयं सभी तैयारियों पर नजर बनाए हुए हैं। विप सूत्रों के अनुसार जोशी कल धर्म सभा में भी रह सकते हैं।

विश्व हिंदू परिषद ने 26 वर्ष बाद कोई बड़ा आयोजन किया है इससे पहले 6 दिसंबर 1992 को विश्व हिंदू परिषद ने लाखों लोगों को अयोध्या बुलाया था। परिषद ने उसके बाद भी कई कार्यक्रम अयोध्या में आयोजित किए लेकिन रविवार को होने वाली धर्म सभा सबसे बड़ा आयोजन माना जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि कार्यक्रम स्थल पर 80 फीट लंबा और 40 फीट चौड़ा विशाल मंच बनकर लगभग तैयार है। 80 फीट लंबे मंच से साधु-संत मंदिर निर्माण के लिए हुंकार भरेंगे। मैदान में धूल से लोगों को बचाने के लिए लगातार पानी का छिड़काव हो रहा है। टेंट व्यवस्था में करीब 125 मजदूर लगातार काम कर रहे हैं। मैदान की विशालता को देखते हुए कई जगह स्क्रीन लगाए जा रहे हैं ताकि मंच साफ ना देख पाने वाले लोगों को कोई दिक्कत ना हो।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper