पहली बार सूर्य को छुएगा नासा का यान!

न्यूयॉर्क: अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी नासा वर्ष- 2018 में 60 साल पूरे कर लेगी। इसकी शुरुआत 29 जुलाई-1958 को की गई थी। इस उपलक्ष्य में नए मिशन के तहत नासा सूर्य के नजदीक तक यान भेजेगी। इस दौरान उसका यान शुक्र और बुध के गुरुत्वाकर्षण का इस्तेमाल करेगा और धीरे-धीरे सूर्य की कक्षा के नजदीक पहुंचेगा। लेकिन यान और सूर्य के वातावरण में 6.2 मिलियन (62 लाख) किलोमीटर की दूरी रहेगी।

इसके बावजूद आज तक कोई भी यान सूर्य के इतने नजदीक नहीं पहुंचा है। इस मिशन में सूर्य के खतरनाक गर्म क्षेत्र और विकिरण की जांच की जाएगी। मिशन का उद्देश्य इस बात की जांच करना है कि सूर्य के प्रभामंडल से कितनी ऊर्जा निकलती है और गर्म हवाओं को बढ़ावा देने की वजहें क्या हैं। जून 2018 में नासा इनसाइट लैंडर के जरिए मंगल ग्रह पर मौजूदा रोबोटिक फ्लीट में भी इजाफा करेगा।

इससे मंगल की ऊपरी सतह का अध्ययन किया जाएगा। जून 2018 में ही ट्रांजिस्टिंग एक्सोप्लैनेट सर्वे सैटेलाइट मिशन की शुरुआत की जाएगी। इसके जरिए हमारे सोलर सिस्टम के बाहर मौजूद दो लाख तारों की निगरानी की जाएगी। पृथ्वी की बर्फ समुद्र लेवल और बदलते अंडरग्राउंड वाटर रिजर्व्स की जांच के लिए भी नासा मिशन शुरू करेगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper