पहले नहीं देखा होगा विज्ञान का ऐसा चमत्कार, सर्जरी के जरिेए बांह पर लगा दिया प्राइवेट पार्ट, पढ़ें हैरान कर देने वाला मामला

नई दिल्ली: यूके से हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है। यहां एक 45 वर्षीय व्यक्ति अपनी बांह पर प्राइवेट पार्ट लगवाने वाला पहला शख्स बन गया है। पेशे से मैकेनिक मैल्कम मैकडॉनल्ड को 2014 में गंभीर ब्लड इन्फेक्शन का सामना करना पड़ा जिससे उसकी हाथ-पैर की उंगलियां और जांघ काले पड़ गए। इसका संक्रमण इतना बढ़ गया कि मैल्कम ने अपना प्राइवेट पार्ट खो दिया।

एक चैनल से बातचीत के दौरान मैल्कम ने बताया कि मैं जान गया था कि मैं अपने प्राइवेट पार्ट को खोने जा रहा हूं। फिर एक दिन अचानक मेरा प्राइवेट पार्ट फर्श पर गिर पड़ा। चूंकि मैं जानता था कि मैं इसे खोने जा रहा हूं इसलिए मैंने उसे उठाया और डस्टबिन में डाल दिया। मैल्कम ने कहा, इसके बाद मेरा जीवन पूरी तरह बदल गया। मेरा आत्मविश्वास खो गया और मैंने शराब का सेवन शुरू कर दिया। इसके चलते मैंने अपने परिवार और दोस्तों का भी त्याग कर दिया क्योंकि मैं उनका सामना नहीं करना चाहता था।

इन सबके के बीच मैल्कम की जिंदगी में उस समय बड़ा बदलाव आया जब उनकी विशेषज्ञ प्रोफेसर डेविड राल्फ से मुलाकात हुई। डेविड ने अपने बारे में मैल्कम को बताया कि वह प्राइवेट पार्ट बनाने के मास्टर हैं। राल्फ़ ने मैल्कम से कहा कि वह उसकी मदद कर सकते हैं, लेकिन इस काम में दो साल लग सकते हैं। आशा की किरण मिलने पर 45 वर्षीय मैल्कम ने सर्जरी के साथ आगे बढ़ने का फैसला किया।

चूंकि यह ऑपरेशन किसी का जीवन बदलने वाला था, इसलिए उसे एनएचएस से 50,000 पाउंड की धनराशि भी मिल गई। कोरोना वायरस महामारी के कारण हालांकि सर्जरी में थोड़ा लेट हुआ, लेकिन आखिरकार मैल्कम की खुशी का ठिकाना नहीं था। मैल्कम ने बताया कि जब मैंने प्राइवेट पार्ट को अपनी बांह पर लगा देखा तो मुझे बहुत गर्व हुआ। मुझे यह बिल्कुल भी अजीब नहीं लग रहा था क्योंकि यह सिर्फ मेरे एक शरीर का हिस्सा था।

सर्जनों ने मैल्कम की स्वयं की रक्त वाहिकाओं और तंत्रिकाओं का उपयोग करके नई मर्दानगी बनाई। लिंग के लिए त्वचा का फ्लैप मैल्कम के दाहिने हाथ से लिया गया था। उसके बाद, सर्जनों ने एक मूत्रमार्ग बनाया और दो पंपों को एक हैंड-पंप के साथ फुलाया, जिससे वह एक मैकेनिकल इरेक्शन हासिल कर सके। हालाँकि यह प्रक्रिया चार साल पहले हुई थी, लेकिन यह अभी भी पूरी तरह संपन्न नहीं हुई है। मैल्कम को उम्मीद है कि इस साल के अंत तक उसके पैरों के बीच में आ जाएगी यानी वह पहले जैसा हो जाएगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper