पाक ने कहा, पुलिस परिसर पर हमला इस्लामाबाद में आतंकवाद की शुरुआत का संकेत

नई दिल्ली: पाकिस्तान के गृहमंत्री शेख राशिद ने मंगलवार को कहा कि इस्लामाबाद में पुलिस परिसर पर हमला ‘आतंकवादी करतूत है, डकैती नहीं’। यह संघीय राजधानी में आतंकवाद की शुरुआत का संकेत देता है। एक दिन पहले, इस्लामाबाद में हुई भारी गोलीबारी में एक पुलिस अधिकारी की मौत हो गई और दो अन्य घायल हो गए। पुलिस के मुताबिक, दोनों हमलावरों को मार गिराया गया है।

मंत्री ने मंगलवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि यह चालू वर्ष की आतंक की पहली घटना थी और ‘हमें बहुत सतर्क रहने की जरूरत है’। इससे पहले, मंत्री ने इस घटना की जांच के आदेश दिए, क्योंकि भारी सुरक्षा वाली राजधानी में यह एक दुर्लभ सुरक्षा उल्लंघन था, जहां दर्जनों दूतावास थे।

रिपोर्ट में कहा गया है कि हालांकि किसी भी समूह ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है, लेकिन पिछले साल अफगानिस्तान में संगठन की सत्ता में वापसी के बाद देश तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) के फिर से सक्रिय हाने से पैदा हुए हालात से जूझ रहा है। संघीय सरकार ने पिछले साल के अंत में घोषणा की थी कि उसने अफगानिस्तान के तालिबान द्वारा समर्थित टीटीपी के साथ एक महीना लंबा संघर्ष विराम किया है।

टीटीपी देशभर में सैकड़ों आत्मघाती बम हमलों और अपहरणों के लिए जिम्मेदार है। यह कुछ समय के लिए देश के ऊबड़-खाबड़ आदिवासी इलाकों पर हावी हो गया और इस्लामी कानून का एक कट्टरपंथी संस्करण लागू किया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper