पायलट बनने का सपना पूरा हुआ तो गांव के बुजुर्गों को अपने खर्च पर घुमाया हवाई जहाज में

युवाओं को सफलता के इस मूलमंत्र को समझना चाहिए कि पुरूषार्थ के अलावा अपने से बड़ों की कृपा और आशीर्वाद से ही लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है। क्योंकि बुजुर्गों के आशीर्वाद में सफलता की कामना छुपी होती है और वे लोग हमेशा सफलता की बुलंदियों को छूते हैं जो परिवार और समाज में बुजुर्गों का मान सम्मान करते हैं। बुजुर्गों के आशीर्वाद के बाद सफलता की सीधी चढ़ने वाले हरियाणा के हिसार जिले के सारंगपुर गांव के रहने वाले विकास ज्यानी ने उन्हें पहली बार हवाई सफर का अद्भुत आनद प्राप्त करवाया।

पायलट बनने के बाद विकास जयानी ने अपने गाँव लौटकर 70 वर्ष से अधिक आयु के सभी निवासियों के लिए नई दिल्ली से अमृतसर तक हवाई यात्रा की व्यवस्था की। बुजुर्गों ने स्वर्ण मंदिर, वाघा सीमा और जलियांवाला बाग का दौरा किया। यात्रियों में 90 वर्षीय बिमला, 80 वर्षीय अमर सिंह, 78 वर्षीय रामामुति और कंकारी, 75 वर्षीय बच्चे गिरदावरी देवी, और 72 वर्षीय आत्माराम के साथ सुरजाराम, खेमाराम,जगदीश, सतपाल और इंद्र आदि मौजूद थे। अपनी पहली उड़ान के बाद, इन्होंने कभी सोचा नहीं था कि वे कभी हवाई जहाज में सफर कर पाएंगे।

उनके पिता महेंद्र जयानी एक बैंक में वरिष्ठ प्रबंधक हैं। उन्होंने गर्व के साथ कहा कि यह सफर किसी तीर्थ यात्रा से कम नहीं था। उन्होंने कहा कि उनके बेटे ने हमेशा अपने बड़ों का सम्मान किया और यह उनका सपना था। अपने बेटे के इस सराहनीय कार्य पर अत्यधिक गर्व करते हुए, उन्होंने कहा कि सभी युवाओं को अपने बुजुर्गों का आदर और सम्मान करना चाहिए।

इस सफर में सबसे बुजुर्ग यात्री ने कहा कि उसने कभी विमान में बैठने का सपना भी नहीं देखा था। विकास ने वादा किया था और उन्होंने वास्तव में अपने वादे के साथ-साथ हमारा सपना भी पूरा किया है। पहली बार विमान में सफर करने वाली रामामुति और कंकरी ने कहा कि यह उनके जीवन की सबसे अच्छी यात्रा थी। विकास ने वास्तव में देश की युवा पीढ़ी को अपने बुजुर्गों का सम्मान करने के लिए एक उदाहरण दिया है।

सलमान खुर्शीद का बड़ा बयान, राहुल गांधी का अध्यक्ष पद छोड़ देना कांग्रेस की सबसे बड़ी समस्या

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper