पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 48,916 नए मामले, 757 की मौत

नई दिल्ली: भारत में कोविड-19 के मामलों की संख्या शनिवार को 13 लाख से पार हो गई। महज दो दिन पहले संक्रमण के मामले 12 लाख के पार हुए थे। इस संक्रामक रोग से देश में अब तक 8,49,431 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सुबह आठ बजे तक जारी आंकड़ों के अनुसार देश में कोरोना वायरस के 48,916 नए मामले आने से संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 13,36,861 पर पहुंच गई जबकि 757 और लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या बढ़कर 31,358 हो गई। देश में अब भी 4,56,071 संक्रमित लोगों का इलाज चल रहा है। अभी तक करीब 63.54 प्रतिशत लोग इस बीमारी से ठीक हो चुके हैं। संक्रमितों की कुल संख्या में विदेशी नागरिक भी शामिल हैं। यह लगातार तीसरा दिन है जब कोविड-19 के एक दिन में 45,000 से अधिक मामले सामने आए हैं।

बीते 24 घंटों में जिन 757 लोगों की मौत हुई है उनमें से 278 की महाराष्ट्र, 108 की कर्नाटक, 88 की तमिलनाडु, 59 की उत्तर प्रदेश, 49 की आंध्र प्रदेश, 35 की पश्चिम बंगाल, 32 की दिल्ली, 26 की गुजरात, 14 की जम्मू कश्मीर, 11 की मध्य प्रदेश और आठ-आठ लोगों की राजस्थान और तेलंगाना में मौत हुई। असम, छत्तीसगढ़ और ओडिशा में छह-छह, पंजाब में पांच, केरल और हरियाणा में चार-चार, बिहार और झारखंड में तीन-तीन तथा पुडुचेरी, त्रिपुरा, मेघालय और नगालैंड में एक-एक मरीज ने जान गंवाई है।

इंडियन मेडिकल काउंसिल ऑफ रिसर्च (आईसीएमआर) ने कहा कि 24 जुलाई तक 1 करोड़ 58 लाख 48 हजार 068 लोगों का कोरोना सैंपल का टेस्ट किया गया। इसमें कल एक दिन में 4 लाख 20 हजार 898 टेस्ट किए गए है। कोरोना वायरस के मरीजों के ठीक होने की दर भले सुकून दे रही हो लेकिन संक्रमण के बढ़ते आंकड़े चिंता बढ़ा रहे हैं। माना जा रहा था कि टेस्टिंग बढ़ेगी तो शायद संक्रमण की दर में कुछ कमी आ जाए, लेकिन आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, पश्चिम बंगाल, यूपी, बिहार और झारखंड समेत कई राज्यों में टेस्टिंग बढ़ने के बावजूद मरीज मिलने की दर नहीं घट रही।

यहां 50 हजार से ज्यादा टेस्ट रोज
महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु रोजाना 50 हजार से ज्यादा टेस्ट कर रहे हैं, लेकिन प्रति 100 टेस्ट मरीज मिलने की दर में कोई कमी नहीं आई है। एक जुलाई को आंध्र प्रदेश जब 25 हजार टेस्ट कर रहा था तो वहां प्रति 100 टेस्ट पर सिर्फ 2.23 मरीज मिल रहे थे अब 58 हजार टेस्ट हो रहा तो करीब 14 मरीज मिलने लगे हैं। कुछ ऐसा ही हाल पश्चिम बंगाल, ओडिशा और कर्नाटक का है। बिहार और झारखंड में तो पांच गुना ज्यादा मरीज मिलने लगे हैं। यूपी में प्रति 100 टेस्ट करीब ढाई गुना ज्यादा मरीज मिल रहे हैं।

8 राज्यों में गंभीर हालात
आंध्र प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, ओडिशा, कर्नाटक, असम और तेलंगाना में हालात ज्यादा तेजी से बदल रहे हैं। बीते एक हफ्ते में इन राज्यों में बड़ी तेजी से नए मामले दर्ज किए गए हैं। हालात को देखते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने इन राज्यों में अफसरों के साथ चर्चा की और जरूरी दिशा-निर्देश दिए। इसके बाद तेलंगाना, असम, कर्नाटक समेत कई राज्य सरकारों ने परीक्षण तुरंत तेज करने के आदेश दिए हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper