पीएम मोदी का कांग्रेस पर हमला ,कहा आपातकाल लोकतंत्र पर काला धब्बा

दिल्ली ब्यूरो: प्रधानमंत्री मोदी ने आपातकाल की 43 वी बरसी पर कांग्रेस को धो डाला। मुंबई बीजेपी द्वारा आयोजित कार्यक्रम ‘आपातकाल : लोकतंत्र पर आघात’ में बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा किआपातकाल लोकतंत्र पर धब्बा था और कांग्रेस जैसी पार्टी ने यह पाप किया था। पीएम मोदी ने कांग्रेस की तरफ इशारा करते हुए कहा कि देश ने कभी सोचा तक नहीं था कि सत्ता सुख के मोह में, परिवार भक्ति के पागलपन में, लोकतंत्र और संविधान की बड़ी-बड़ी बातें करने वाले लोग हिंदुस्तान को जेलखाना बना देंगे।

संविधान का कैसे दुरुपयोग किया जा सकता है, संविधान का एक परिवार के लिए किस प्रकार से हथकंडे के रूप में, साधन के रूप में, उपयोग किया जाता है, शायद ही ऐसा कोई उदाहरण कहीं मिल सकता है। उन्होंने कहा कि जब-जब कांग्रेस पार्टी को और खासकर इस परिवार को अपनी कुर्सी जाने का संकट महसूस हुआ है, उन्होंने चिल्लाना शुरू किया है कि देश संकट से गुजर रहा है, देश में भय का माहौल है, देश तबाह हो जाने वाला है और सिर्फ हम ही बचा सकते हैं। कांग्रेस पर हमला करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि पंचायत से लेकर दिल्ली की सत्ता तक उनका राज था लेकिन अब ये 44 सीट पर सिमट गये हैं।

चुनाव के बाद इन्हें इवीएम में खोट नजर आता था लेकिन कर्नाटक चुनाव के बाद उन्होंने कुछ नहीं कहा। उन्होंने कहा कि इतिहास के स्वर्णिम पन्नों पर ये जो काला धब्बा लगा है उसके माध्यम से इस पाप को करने वाली कांग्रेस पार्टी और उस समय की सरकार, उनकी आलोचना करने मात्र के लिए हम काला दिन नहीं मनाते हैं, बल्कि हम देश की वर्तमान और भावी पीढ़ी को जागरूक करना चाहते हैं। हम स्वयं को भी प्रति पल संविधान के प्रति समर्पण, लोकतंत्र के प्रति प्रतिबद्धता, हर पल अपने आपको सज्ज रखने के लिए भी इसका स्मरण करते हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि आपातकाल में न्यायपालिका को भी भयभीत किया गया। यही वजह है कि जो कभी 400 लेकर बैठे थे, पंचायत से पार्लियामेंट तक एक ही परिवार का राज चलता था, वे 400 से 44 पर आ गये। प्रधानमंत्री ने कहा कि बहुत कम लोग थे जो वाणी स्वातंत्र्य के लिए, अखबार की आजादी के लिए, संघर्ष का रास्ता चुनने के लिए मैदान में आए थे। आपातकाल के दौरान मीडिया को डराया गया। उन्होंने एक वाक्या याद किया और कहा कि गायक किशोर कुमार को कांग्रेस ने गाने के लिए बुलाया। उन्होंने मना कर दिया। बस उनका इतना ही गुनाह था कि देश के रेडियो पर से उनको बैन कर दिया गया। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, जिस पार्टी के अंदर लोकतंत्र न हो, उस पार्टी से लोकतंत्र की प्रतिबद्धता की कभी कल्पना नहीं कर सकते।

पीएम मोदी ने कहा कि मुसलमानों को संघ के नाम पर डराया गया। जिन्होंने संविधान को एक प्रकार से पूरी तरह कुचल दिया, वे आज दुनिया में भय पैदा कर रहे हैं कि मोदी है, संविधान खत्म कर देगा। मुस्लिमों और दलितों में काल्पनिक भय पैदा किया गया। उन्होंने कहा कि 26 जून किसी राजनीतिक दल को बुरा दिखाने के लिए नहीं, लोकतंत्र के प्रति आस्था को मजबूत करने के लिए, हमें इतिहास के इस पृष्ठ को कभी भूलना नहीं चाहिए, भूलने नहीं देना चाहिए।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper