पीएम मोदी के जन्‍मदिन पर देश में टूटा वैक्सीनेशन का रिकार्ड, जानिए- कौन-सा राज्‍य रहा शीर्ष पर

बेंगलुरु। कर्नाटक में एक दिन में सबसे ज्यादा कोरोना का टीका लगाने का रिकार्ड बन गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, एक दिन में 26.92 लाख खुराक के साथ कर्नाटक देश में कोरोना टीकाकरण में सबसे ऊपर आ गया है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री डा. के सुधाकर ने कहा कि कर्नाटक ने शुक्रवार को रात 9 बजे तक 26.92 लाख लोगों को कोरोना टीका लगा कर देश में कोरोना टीकाकरण में शीर्ष स्थान हासिल किया है।

राज्य के प्रयासों की सराहना करते हुए उन्होंने कहा, ‘मैं इस ऐतिहासिक टीकाकरण अभियान में शामिल सभी स्वास्थ्य कर्मियों और अन्य कर्मचारियों को धन्यवाद देना चाहता हूं। कर्नाटक द्वारा उत्तर प्रदेश और बिहार की तुलना में आज अधिक खुराक देने का यह एक अभूतपूर्व प्रयास है। जिनकी आबादी कई गुना ज्यादा है।’
उन्होने आगे कहा,’ यह प्रयास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के साथ मेल खाता है, जिन्होंने कोविड के खिलाफ युद्ध का नेतृत्व किया है’। बता दें कि कर्नाटक के शीर्ष जिले जिन्होंने सबसे अधिक वैक्सीन लगाई गई है।उसमें बृहत बेंगलुरु महानगर पालिक (बीबीएमपी) क्षेत्र शामिल है। यहां पर 3.98 लाख लोगों को टीका लगाया गया है। इसके बाद बेलागवी में 2.39 लाख लोगों को टीका लगाया गया है।

इसके अलावा दक्षिण कन्नड़ और बल्लारी है। जहां पर 1.33 लाख लोगों को टीका लगाया गया है। इसके बाद तुमकुरु आता है। जहां पर 1.24 लाख डोज दिए गए और मांड्या में 1.15 टीके लगाए गए हैं। बेंगलुरु शहरी, शिवमोग्गा, धारवाड़, रामनगर, हासाना, दावणगेरे, चिकमगलुरु और हावेरी जिलों ने दिन के लक्ष्य का 100 प्रतिशत से अधिक हासिल किया। जानकारी कै लिए बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की जन्मतिथि के अवसर पर एक दिन में 2.5 करोड़ से अधिक डोज लगाकर भारत ने कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण का अपना ही विश्व रिकार्ड तोड़ दिया। इसके पहले 31 अगस्त को 1.41 करोड़ डोज का रिकार्ड बनाया था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper