पीएम मोदी ने उत्‍तराखंड को दी 17500 करोड़ के विकास योजनाओं की सौगात, कहा प्रगति के रास्‍ते पर डबल इंजन सरकार

हल्द्वानी: प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने गुरुवार को हल्‍द्वानी के एमबी इंटर कॉलेज में उत्‍तराखंड को 17500 करोड़ के विकास योजनाओं की सौगात दी। इस दौरान जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम ने बिना विपक्ष के किसी नेता का नाम लिए जमकर हमला बोला। साथ ही डबल इंजन की सरकार में प्रगति के रास्‍ते पर चल रहे उत्‍तराखंड के विकास का खाका भी रखा। पीएम ने युवा, जवान, किसान के लिए हो रहे काम को अपने भाषण के केन्‍द्र में रखा। वहीं टनकपुर-बागेश्‍वर रेल लाइन, ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन, आलवेदर रोड को लेकर हो रहे काम को ऐतिहासिक बनाया।

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन की शुरुआत कुमाऊंनी से की। कहा के उत्तराखंड में बढ़ रहा आधुनिक स्ट्रक्चर, चार धाम महापरियोजना, हाइड्रो परियोजना, टूरिज्म में बढ़ रहा आकर्षण, प्राकृतिक खेती, हर्बल उत्पाद आदि इसे उत्तराखंड का दशक बनाएंगे। हिमालय की ताकत को सब जानते हैं। यहां से कई धाराएं निकलती हैं। दूसरी ओर प्रदेश में एक धारा है जो पहाड़ को विकास से वंचित रखना चाहती है। दूसरी धारा विकास करना चाहती हैं। पहली धारा वालों ने पहाड़ में विकास नहीं किया।

नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज हमारी सरकार सबका साथ सबका विकास के मंत्र के साथ सबको आगे ले जा रही है। आज किच्छा में एम्स ऋषिकेश के सैटेलाइट सेंटर व पिथौरागढ़ में जगजीवन राम अस्पताल की नींव रखी है। इनके खुलने से स्वास्थ्य सेवाओं में अभूतपूर्व बढ़ोतरी होगी। 1200 किमी लंबी सड़कों को गति मिलेगी। आपको सुविधा से वंचित रखने वालों को सबक मिलेगा। हमने टनकपुर-पिथौरागढ़ के लिए आलवेदर सड़क बनाई है, जबकि अफवाह फैलाने वालों ने सिर्फ दुकान चलाई है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि टनकपुर-बागेश्वर रेल लाइन का सर्वे हो रहा है, ताकि जल्द काम शुरू हो। आज ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन बन रही है कल बागेश्वर-टनकपुर भी बनेगी। हमने यहां संकल्प शिलाएं लगाई हैं। उत्तराखंड गठन के 20 साल पूरा कर चुका है। प्रदेश को ये जो लोग लूटना चाहते हैं। सोचते हैं हमारी जेब भरी रहे। उनकी सोच थी उनकी सरकार किसी भी तरह बची रहे। उन्होंने आपको अभाव दिया। हम दिन-रात सुविधा देने के लिए काम कर रहे हैं। माताएं, बहनों व बेटियों ने अभाव को ज्यादा झेला था। पानी के लिए सबसे ज्यादा परेशान रहती थी। हमने हर घर जल हर घर नल से सबको जोड़ा है। देश के पांच करोड़ परिवारों को नल दिया है। आज उत्तराखंड के सभी 13 जिलों के लोगों को जल जीवन मिशन की सौगात दी है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हल्द्वानी शहर के ओवरऑल इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास के लिए हम लगभग 2,000 करोड़ रुपये की योजना लेकर आ रहे हैं। अब हल्द्वानी में पानी, सीवरेज, सड़क, पार्किंग, स्ट्रीट लाइट सभी जगह पर अभूतपूर्व सुधार होगा। इस दशक को उत्तराखंड का दशक बनाने के लिए तेज गति से ऐसे ही विकास कार्यों पर अनेक काम करने की जरूरत पर हमने जोर दिया है। उत्तराखंड में बढ़ रहे नए हाइड्रो प्रोजेक्ट्स, उत्तराखंड में बढ़ रही औद्योगिक क्षमता, इस दशक को उत्तराखंड का दशक बनाएगी।

पीएम मोदी ने कहा कि इस दशक को उत्तराखंड का दशक बनाने के लिए तेज़ गति से विकास कार्यों पर अनेक काम करने की जरूरत पर हमने जोर दिया है। उत्तराखंड में बढ़ रहे नए हाइड्रो प्रोजेक्ट्स, उत्तराखंड में बढ़ रही औद्योगिक क्षमता, इस दशक को उत्तराखंड का दशक बनाएगी। उत्तराखंड से कितनी ही नदियां निकलती हैं। आज़ादी के बाद से ही, यहां के लोगों ने दो धाराएं और देखी हैं। एक धारा है- पहाड़ को विकास से वंचित रखने की और दूसरी धारा है- पहाड़ के विकास के लिए दिन रात एक करने की। पहली धारा वाले लोग आपको हमेशा विकास से वंचित रखना चाहते हैं।

जब हम किसी ऐतिहासिक पल पर जाते हैं तो पूछा जाता है कि कब बनी योजना। हम पूछते है कि ये प्रोजेक्ट कब से अधूरा है। डेढ़ दशक से, चार-चार दशक से। हल्द्वानी के लोगों को शायद ही याद हो कि जमरानी बांध के बारे में 1976 में सोचा गया। आज हमने इस पर काम शुरू कराया है। बताइए कि ये गुनाह है कि नहीं। (जनता से पूछा) आवाज आई.. है ऐसा गुनाह करने वालों को सजा मिलनी चाहिए कि नहीं..मिलनी चाहिए । ऐसे गुनाह करने वालों को भूल जाओगे क्या, माफ कर दोगे क्या नहीं.. हमने विकास किया है या नही किया है..भाइयो व बहनो—मैं ठीक कर रहा हूं। आप उनको ठीक कीजिये। अगर वो आपसे प्यार करते तो ये योजना 42 साल से लटकी रहती क्या? परिणाम यह हुआ कि न तो हमें बिजली मिली न पानी।

वहीं, मुख्‍यमंत्री पुष्‍कर सिंह धामी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्‍व में देश अपने खोए वैभव को पाने की ओर अग्रसर है। उनके ही नेतृत्‍व का कमाल है कि कश्‍मीर से धार 370 खत्म की गई। आयोध्‍या में भव्‍य राममंदिर का निर्माण शुरू हो रहा है। काशी में विश्‍वनाथ मंदिर का स्‍वरूप भव्‍य हो गया है। केदारभूमि के पुनर्निर्माण का मार्ग प्रशस्‍त हुआ। कोविड आपदा को जिस तरह से पीएम मोदी ने संभाला उसे पूरी दुनिया ने सराहा। न सिर्फ देश के लिए, बल्कि विदेशों को भी भी वैक्‍सीन उपल्‍ब्ध कराकर पीएम ने पूरे विश्‍व को राहत पहुंचाई।

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper