पीएम मोदी ने देश के नाम लिखा खत, कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मजदूरों की परेशानी पर जताया दुःख

पीएम मोदी, पीएम मोदी का खत, कोरोना महामारी, कोरोना वायरसनई दिल्ली. देश इन दिनों कोरोना महामारी की जंग लड़ रहा है. कोरोना संकट की इस घड़ी के बीच मोदी सरकार ने 29 मई को अपने दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा कर लिया. कोरोना से चल रही जंग और इस खास दिन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने देशवासियों को एक खत लिखा है. इस खत के जरिए प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में देश के लोगों की एकजुटता और दृढ़ निश्चय की जमकर तारीफ की है.

पीएम मोदी ने कहा पिछले एक साल में राष्ट्र ने ऐतिहासिक निर्णय लिए और देश ने तेजी से प्रगति भी की. इस खत के जरिए उन्होंने प्रवासी श्रमिकों, मजदूरों और अन्य लोगों के प्रति संवेदना भी प्रकट की जिन्हें कोरोना संकट के दौरान जबरदस्त पीड़ा झेलनी पड़ी है. उन्होंने भविष्यवाणी करते हुए कहा है कि भारत आर्थिक पुनरुथान में एक मिसाल कायम करेगा और दुनिया को आश्चर्यचकित कर देगा जैसे उसने कोरोना महामारी के खिलाफ अपनी लड़ाई में किया था.

प्रधानमंत्री मोदी ने लिखा है आप सभी ने साबित किया है कि भारतीयों की सामूहिक ताकत और सामर्थ्य किसी भी अन्य शक्तिशाली देशों के मुकाबले काफी आगे हैं. कोरोना संकट की घड़ी में ऐसा बिल्कुल नहीं कहा जा सकता कि किसी को भी दिक्कत या परेशानी न हुई हो. उद्योगों में काम कर रहे लोगों, प्रवासी मजदूरों और कामगारों ने इस दौरान असाधारण कष्ट झेला है. सारे कष्ट झेलने के बाद भी वह कोरोना के चल रही इस जंग में अपना पूरा सहयोग दे रहे हैं.

इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी सरकार के कामकाज का पूरा ब्योरा भी दिया है. उन्होंने कहा कि​ पिछले एक साल में जिस तरह से हमारी सरकार ने ऐतिहासिक फैसले लिए है उसे खत के जरिए बताना बहुत मुश्किल होगा. लेकिन इस मौके पर मैं ये जरूर कह सकता हूं कि एक साल में हर दिन मेरी सरकार ने चौ​बीसों घंटे पूरी ताकत और जोश के साथ अपने फैसलों को लागू किया है

सर्जिकल और एयर स्ट्राइक पर जताया संतोष
प्रधानमंत्री ने अपने खत में पुलवामा हमले के बाद भारतीय वायुसेना की ओर से पाकिस्तान में की गई एयर स्ट्राइक पर संतोष जताया. इसी के साथ खत में उन्होंने राम मंदिर और नागरिकता संसोशधन कानून का भी जिक्र करते हुए कहा, जिन फैसलों का सदियों से लोग इंतजार कर रहे थे उन बहस का सौहार्दपूर्ण तरीके से समापन हो चुका है. इस मौके पर उन्होंने तीन तलाक का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा ​कि हमारी सरकार ने जम्मू कश्मीर में आर्टिकल 370 हटाकर देश में राष्ट्रीय एकता और अखंडता को और मजबूत करने का काम किया है.

गरीबों के उत्थान के लिए दिन रात हो रहे प्रयास
पीएम मोदी ने खत में लिखा कि लोगों ने मोदी सरकार को दूसरी बार मौका इसलिए दिया है क्योंकि वह पहली बार किए गए काम को मजबूत आधार देना चाहते थे. प्रधानमंत्री ने कहा, साल 2014 से 2019 के बीच दुनिया के सामने भारत का कद बढ़ा है. हमारी सरकार ने गरीबों को उत्थान के लिए दिन रात प्रयास किए हैं. देश में गरीबों के लिए फ्री गैस, बिजली कनेक्शन, घर घर शौचालय और घर मुहैया कराए जाने की दिशा में काम हुआ है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper