पीलीभीत में महिला बनी बाघ का निवाला, घंटों की मशक्कत के बाद पकड़ा गया बाघ

पीलीभीत। माधोटांडा थाना क्षेत्र के गांव चांदूपुर के मजरा वीरखेड़ा में बाघ को देख दो महिलाएं उससे बचने के लिए गन्ने के खेत में छिप गईं। लेकिन बाघ ने खेत में जाकर एक महिला गिरजा देवी को अपना शिकार बना डाला। दूसरी महिला नीतू देवी गेहूं के खेत में छिपते- छिपाते बमुश्किल गांव पहुंची और लोगों को घटना की जानकारी दी। इस पर सैकड़ों की तादाद में गांव वाले घटना स्थल पर जा धमके।

सूचना पर पहुंची माधोटांडा पुलिस ने भीड़ के तेवर देखते हुए अतिरिक्त पुलिस बल की मांग कर दी। इसके बाद पुलिस क्षेत्राधिकारी अनुराग दर्शन तीन थानों की पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे और मोर्चा संभाला। घटना की जानकारी मिलने पर वन अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। पूर्वाह्न 11 बजे बाघ को ट्रैंकुलाइज कर पकड़ लिया गया। सुबह करीब 6:10 बजे छेदा लाल की विवाहित पुत्री गिरजा देवी पत्नी हेमराज निवासी ग्राम सिकलापुर थाना जहानाबाद नीतू देवी के साथ शौच को गई थी। दोनों लौट रही थीं।

इस बीच उन्हें चांदूपुर के मुख्य मार्ग पर बाघ दिखा, जिसे देखकर दोनों दौड़कर गन्ने के खेत में छिप गई और उसके जाने का इंतजार करने लगी। लेकिन बाघ जाने के बजाय सीधे गन्ने के खेत की और दौड़ा और गिरजा देवी पर हमला कर दिया। वह गिरजा को करीब दो मीटर अंदर गन्ने के खेत में खींच ले गया और अपना शिकार बना डाला। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए पीलीभीत भेजा है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper