---- 300x250_1 ----
--- 300x250_2 -----

पुणे में कोविशिल्ड बना रही सीरम इंस्टीट्यूट के नए प्लांट में लगी आग

पुणे : महाराष्ट्र के पुणे में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के टर्मिनल 1 गेट में आग लग गई है. आग लगने की वजह का अभी पता नहीं चल पाया है. फिलहाल, मौके पर दमकल की गाड़ियां पहुंच गई है और आग बुझाने का काम जारी है. बता दें कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ही कोरोना वैक्सीन कोविशिल्ड बना रही है, जिसकी आपूर्ति भारत समेत कई देशों में की जा रही है. बताया जा रहा है कि मौके पर दमकल की 7 से 8 गाड़ियां मौजूद है और आग बुझाने की कोशिश की जा रही है. अभी आग पर काबू नहीं पाया जा सका है. आग लगने की वजह और टर्मिनल में कितने लोग फंसे हैं, इसकी भी जानकारी सामने नहीं आई है. दूर से ही प्लांट के ऊपर धुएं का काला गुबार दिखाई दे रहा है. पांच मंजिला इस प्लांट में कोविशिल्ड का प्रोडक्शन कुछ दिन में शुरू होने वाला है.

बता दें कि कोरोना वैक्सीन कोविशिल्ड का प्रोडक्शन सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के नए प्लांट से करीब एक से दो किलोमीटर दूरी पर स्थित पुराने प्लांट से किया जा रहा है. इस प्लांट का निर्माण 1996 में किया गया था. यही पर कोविशिल्ड वैक्सीन का प्रोडक्शन हो रहा है. कोविशिल्ड का बड़े पैमाने पर प्रोडक्शन करने की तैयारी नए प्लांट से थी, जिसका कुछ हिस्सा फिलहाल आग की चपेट में है.

बताया जा रहा है कि पुणे के मंजरी में स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के नए प्लांट में आग लगी है. 300 करोड़ की लागत से बने इस प्लांट में कोरोना वैक्सीन कोविशिल्ड का बड़े पैमाने पर प्रोडक्शन करने की योजना है. पिछले साल ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने इस प्लांट का उद्घाटन किया था, लेकिन अभी इस प्लांट में वैक्सीन का उत्पादन नहीं शुरू हो पाया है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper