पुलवामा नरसंहार : जवानों की शहादत पर सीआरपीएफ का प्रण, न भूलेंगे और न माफ करेंगे

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के अवंतिपोरा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के काफिले पर हमले के बाद देशभर में जनता में आक्रोश है। उधर, पुलवामा आतंकी हमले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चेतावनी के बाद अब केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स ने बड़ा बयान दिया है। सीआरपीएफ के ट्विटर हैंडल से शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए ट्वीट किया गया है कि हम न भूलेंगे, न माफ करेंगे। आपको बता दें कि एक दिन पहले हुए पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 38 जवान शहीद हो गए। ऐसे में सीआरपीएफ की इस प्रतिक्रिया को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

उधर, नई दिल्ली स्थित पाकिस्तान उच्चायोग की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। अवांतिपोरा में गुरुवार को हुए फिदायीन हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए और बड़ी संख्या में घायल हुए हैं। इस घटना के बाद पूरे देश में आक्रोश का माहौल है। चाणक्यपुरी के शांतिपथ पर स्थित उच्चायोग के आसपास अधिक पुलिस बल तैनात किया गया है। इससे पहले आज को मंत्रिमंडल की सुरक्षा समिति की बैठक हुई जिसमें पाकिस्तान का विशेष राष्ट्र का दर्जा वापस ले लिया गया।

इसके अलावा अंतराष्ट्रीय मंच पर पाकिस्तान को अलग-थलग करने के लिए विदेश मंत्रालय सभी कूटनीतिक कदम उठाएगा। आज सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकवादी हमले के संबंध में पाकिस्तान को स्पष्ट चेतावनी देते हुये शुक्रवार को कहा कि भारत को अस्थिर और बदहाल करने का उसका ख्वाब कभी पूरा नहीं होगा, आतंकवादी संगठनों को उनके किये की सजा मिलेगी तथा शहीदों के खून की एक-एक बूँद की कीमत वसूली जायेगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper