पुलिस मुख्यालय में DGP मुकुल गोयल ने किया ध्वजारोहण

लखनऊ: 75वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) मुकुल गोयल ने पुलिस मुख्यालय में झंडा रोहण किया। इस दौरान एडीजी लॉ एण्ड आर्डर प्रशांत कुमार, तमाम पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी और पुलिस कर्मी मौजूद रहे। स्वततंत्रता दिवस के अवसर पर बेहतर कार्य करने वालें पुलिस अधिकारी और पुलिस कर्मियों को डीजीपी ने सम्मानित भी किया। डीजीपी ने सभी को स्वतंत्रता दिवस की बधाई देते हुए कहा कि ‘आज दिन आजादी के लिए बलिदान देने वाले महापुरुषों को याद करने का दिन है। आज का दिन हमारे जीवन में देश भक्ति संचार करता है।’

उन्होंने कहा कि पिछले एक वर्ष का समय यूपी पुलिस के लिए चुनौतीपूर्ण रहा है। आने वाले समय में विधानसभा चुनाव हमारे के लिए सबसे बड़ी चुनौती है। इससे पहले पंचायत चुनाव को शांतिपूर्ण और निष्पक्ष कराये गए। पुलिस का काम हमेशा चुनौती पूर्ण रहा है। डीजीपी ने बताया कि यूपी पुलिस चौबीस घंटे सहायता के लिए तत्पर रहती है। कोरोना काल के दौरान पुलिस ने नियमों का अनुपालन कराया। इस दौरान 182 पुलिस कर्मियों ने अपने प्राणों की आहुति दे दी। उन्हें श्रद्धांजलि देता हूं।

पुलिस महानिदेशक ने कहा कि जिस तरह से समय बदल रहा है। वैसे ही अपराध की प्रवत्ति भी बदल रही है। लेकिन अपने जीरो टॉलरेंस नीति के तहत अपराध पर अंकुश लगाने का काम किया है। प्रदेश में गैंगस्टर अधिनियम के तहत 1800 करोड़ से ज्यादा जमीन को खाली कराने व धवस्तीकरण की कार्रवाई की गयी है। कुख्यात अपराधी, वांछितों के खिलाफ अभियान जारी है। अपराधी तो एनकाउंटर में पकड़े जा रहे है या शहर छोड़ रह हैं।

डीजीपी ने यह भी कहा कि महिला अपराध को रोकने के लिए प्रदेश के सभी जिलों के थानों में महिला हेल्प डेस्क बनायी गयी है। पिंक बूथ बनाये गए। लखनऊ, गौतमबुद्धनगर में साइबर क्राइम के थाने बनाये गए। बदायूं जिले में महिला पीएसी का गठन भी किया गया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper