पैरेंट्स ध्यान दें! इस प्रकार बढ़ेगी बच्चों की लंबाई

बच्चों की लंबाई को लेकर हम माता-पिता बहुत चिंतित रहते हैं। हम चाहते हैं कि हमारा बच्चा लंबा और सेहतमंद हो पर बढ़ते बच्चे कई सारे शारीरिक, हॉर्मोनल और मानसिक बदलाव से गुज़रते हैं जब वे बड़े हो रहे होते हैं। इसके अलावा यह अनुवांशिक भी होता है और परिवार के माहौल के अनुरुप होता है। इसलिए ज्यादा बदलाव संभव नहीं हैं।
फिर भी कुछ उपाय हैं जिन्हे अपना कर कुछ हद तक हम बच्चों की लंबाई बढ़ा सकते हैं।
सही आहार
सही मात्रा में पोषक आहार का सेवन करने से बच्चों की लंबाई अच्छी हो सकती है। बच्चों को कार्बोहाइड्रेट से पूर्ण व्यंजन दें| गेहूँ की चपाती, दालें और ब्रेड में कार्बोहाइड्रेट भरपूर होता है।
दूध और दूध की बनी चीज़ें अपने बच्चों को रोज़ दें। इसमें पाया गया कैल्शियम आपके बच्चों की हड्डियाँ मज़बूत करने के साथ-साथ उनकी लंबाई भी अच्छी करेगा।
प्रोटीन से भरे खाने के व्यंजन अपने बच्चों को खिलाएँ। ये दालों, चने और मछली में पाया जाता है।
धूप में पाया गया विटामिन डी बच्चों की स्किन और मांसपेशियों के लिए बहुत अच्छा है। इससे भी आपके बच्चे की लंबाई अच्छी हो सकती है।
व्यायाम और योग के अभ्यास से बच्चों की लंबाई अच्छी हो सकती है।
शराब, आर्टिफिशियल हॉर्मोन के कैप्सूल और सिगरेट से अपने बढ़ते बच्चों को दूर रखें। इससे उनके शरीर और इम्यूनिटी पर बुरा असर होगा, जिससे उनकी लंबाई और मानसिक वृद्धि भी रुक सकती है।
बच्चों को कम से कम 8 घंटे तक रोज़ सोना चाहिए और खुली जगह में, फैल कर सोना, उनकी बढ़ती उम्र में अच्छा है क्योंकि उनकी हड्डियों और पूरे शरीर को बढ़ने में तंग जगह से रुकावट आ सकती है। बच्चों के पलंग बड़े होने चाहिए।
वहीं यदि सब तरह से आपका बच्चा अपनी सेहत, ख़ान-पान और रोज़ की रूटीन का ध्यान रखने पर भी नहीं बढ़ रहा और उसकी लंबाई बहुत ही छोटी रह गई है, तो तत्काल डॉक्टर से संपर्क करें। क्योंकि कई बार शरीर के कुछ अनदेखे हाव-भाव एक डॉक्टर ही आपको बता सकेगा और सही सुझाव भी दे पायगा। याद रहे कि अधिकतर बच्चों की लंबाई 18 से 20 वर्ष तक ही बढ़ती है।
आत्मविश्वास को बढ़ावा: यदि आपका बच्चे की लंबाई बहुत ज़्यादा नहीं बढ़ी, तो भी उसे निराश होने से बचाएँ। उसे अपने लिए अच्छा महसूस करने को कहें और छोटे कद के सफल लोगों की मिसाल देते हुए, उसका आत्मविश्वास बढ़ाएँ।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper