प्रदेश में कानून का डर नही रह गया: राजबब्बर

लखनऊ ब्यूरो। उन्नाव रेप केस में योगी सरकार पर निशाना साधते हुए राज बब्बर ने कहा सरकार को किसी कानून का डर नहीं रह गया है। इसी कारण से उन्नाव रेप कांड में आरोपी विधायक को बचाने में जुटी हुई है। पूरे देश में लोगों का आक्रोश उस मुद्दे पर बढ़ रहा है लेकिन योगी सरकार ने अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है। इससे साबित होता है कि सीएम को कानून का डर नहीं रह गया है। राजबब्बर ने कांग्रेस विधायक अजय सिंह लल्लू की देवरिया में हुई गिरफ्तारी को लेकर भी प्रदेश सरकार पर निशाना साधा।

राज बब्बर ने वुधवार को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय पर पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि कुशीनगर जिले में बालू खनन पट्टे को निरस्त करने की मांग को लेकर बैठे कांग्रेस विधायक अजय कुमार लल्लू को पुलिस ने गिरफ्तार कर देवरिया जेल भेज दिया था। कांग्रेस पार्टी ने एमएलसी दीपक सिंह व नसीमुद्दीन ने इसको लेकर गांव वालों के साथ वहां धरना दिया। वहां से लौटकर राजधानी लखनऊ में दीपक सिंह ने कहा कि बिना नोटिस के विधायक को गिरफ्तार करना अंसैवधानिक है। ये सरकार मनमानी पर अड़ी है।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर,जिला प्रशासन दमकारी नीति अपनाकर धरनारत लोगों को कुचलना चाह रही है, लेकिन कांग्रेस ऐसा नहीं होने देगी। मीडिया से मुखातिब होते हुए यूपी कांग्रेस अध्यक्ष ने चेतावनी देते हुए कहा कि किसी भी सूरत में बालू खनन नहीं होने दिया जाएगा और अगर तीन दिन के भीतर प्रशासन ने विधायक को रिहा नहीं किया तो कांग्रेस पार्टी आंदोलन को और तेज करेगी। वहीं, पूर्वमंत्री नसीमुद्दीन शिद्दीकी ने कहा कि पूर्व में सम्बन्धित विभाग का मंत्री होने के कारण उन्हें मामले की जानकारी है कि यहां खनन होगा तो बांध को खतरा होगा। उन्होंने बताया कि महज एक जेई की रिपोर्ट पर बालू खनन का पट्टा दिया गया है, जिसे कांग्रेस किसी भी कीमत पर नहीं होने देगी।

खबरे हैं कि कांग्रेस एमएलसी दिनेश सिंह परिवार सहित बीजेपी में शामिल होने जा रहे हैं। इस पर राजबब्बर ने कहा कि बीजेपी ऐसी कोशिशें करती रहती है, उन्हें अभी इस मामले की पूरी जानकारी नहीं है लेकिन जल्द वह अपना पक्ष रखेंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper