प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के अन्तर्गत ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में उद्योग स्थापित करने हेतु बेरोजगार व्यक्तियों से ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित

बरेली: जिला ग्रामोद्योग अधिकारी श्री अजय पाल ने बताया कि प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (PMEGP) के अंतर्गत ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में उद्योग स्थापित करने हेतु बेरोजगार व्यक्तियों (जिनकी आयु 18 वर्ष से कम न हो) से ऑनलाइन आवेदन पत्र आमंत्रित हैं। लखनऊ ट्रिवयून से विशेष साक्षात्कार में उन्होंने कहा कि विनिर्माण कार्य के लिए 50 लाख रुपए तथा सेवा उद्योग हेतु प्रोजेक्ट कास्ट 20 लाख रुपए तक का आवेदन कर सकते हैं और शहरी क्षेत्र के सामान्य वर्ग के लाभार्थियों (पुरुष) को 15 प्रतिशत एवं आरक्षित वर्ग को 25 प्रतिशत मार्जिन मनी अनुदान व ग्रामीण क्षेत्र के (पुरुष) लाभार्थियों को 25 प्रतिशत तथा अन्य सभी आरक्षित वर्ग को 35 प्रतिशत मार्जिन मनी अनुदान का लाभ अनुमन्य है। शासन द्वारा 95 औद्योगिक इकाईयों हेतु 275.50 लाख रुपए की मार्जिन मनी सब्सिडी के सापेक्ष 760 लोगों को रोजगार देने हेतु संशोधित लक्ष्य प्राप्त हुआ है।

जिला ग्रामोद्योग अधिकारी ने कहा कि पं0 दीनदयाल ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अन्तर्गत मात्र ग्रामीण क्षेत्रों में स्थापित इकाईयों को सब्सिडी के अतिरिक्त तीन वर्ष तक (अधिकतम 13 प्रतिशत तक) के ब्याज का लाभ खादी ग्रामोद्योग विभाग द्वारा मात्र 25 लाख रुपए की सीमा तक के प्रोजेक्ट कास्ट को ही भुगतान किया जायेगा।

ऑनलाइन आवेदन करते समय उद्यमी की फोटो, आधार कार्ड, पैन कार्ड, जाति प्रमाण-पत्र, शैक्षिक योग्यता, प्रधान द्वारा अनापत्ति प्रमाण-पत्र, (ग्रामीण क्षेत्र) निवास प्रमाण-पत्र, सी0ए0 द्वारा प्रोजेक्ट रिपोर्ट आदि दस्तावेज सहित आवेदन हेतु वेबसाइट kviconline.gov.in/pmegp – KVIB  अपलोड कराने होंगे। किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए जिला ग्रामोद्योग कार्यालय पर भी सम्पर्क किया जा सकता है।

बरेली से ए सी सकसेना की रिपोर्ट

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper