प्राचार्य ने कालेज में लूटी महिला की अस्मत!

गोरखपुर: दक्षिणांचल स्थित एक कालेज के प्राचार्य पर स्थानीय एक महिला ने कालेज में ही दुष्कर्म किए जाने का आरोप लगाया है। इस मामले की जांच महिला की तहरीर पर बड़़हलगंज कोतवाली पुलिस कर रही है। ॥ बड़़हलगंज कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक दक्षिणांचल के पुलिस सर्किल गोला इलाके के एक गांव की रहने वाली महिला ने इस सबंध में एसएसपी गोरखपुर को संबोधित शिकायती पत्र बड़़हलगंज पुलिस को सौंपा है।

वायरल हो रहे इस शिकायती पत्र के मुताबिक वह अपनी बीमारी का इलाज कराने बड़़हलगंज जाती थी। इलाज के दौरान उसका परिचय एक कालेज के प्राचार्य से हुआ। उन्होंने उसे अपने कालेज में नौकरी देने की बात कही और कालेज बुलाया। वह २७ फरवरी को कालेज गई। उस दिन वहां कुछ देर रहने के बाद घर लौट आई। २८ फरवरी को वह फिर से कालेज गई। उसे कालेज में साफ–सफाई करने के लिए कहा गया। वह कालेज के कई कमरों आदि की सफाई की। काम पूरा हो जाने पर इसकी जानकारी प्राचार्य को दी। सफाई का कार्य चेक करने के बहाने प्राचार्य उसे कालेज के ऊपर बने एक कमरे में ले गए। वहां उन्होंने दरवाजे की कुंड़ी बंदकर उसके साथ जबरन दुष्कर्म किया।

वहां से वह किसी तरह से अपने घर पहुंची और परिजनों को इसकी जानकारी दी। उसके बाद पुलिस कंट्रोल रूम के ११२ पर भी इसकी सूचना दी गई। इतना ही नहीं हल्का के दारोगा को भी घटना की जानकारी दी गई। पुलिस मामले की जांच कर रही है। ॥ जांच के बाद होगी विधिक कार्रवाईः बड़़हलगंज कोतवाल रामाज्ञा सिंह ने कहा तहरीर मिली है। मामला गंभीर है। प्रकरण की जांच की जा रही है। संबंधित कालेज गया था वहां मिले चौकीदार आदि ने इस प्रकार की घटना से इनकार किया है। कालेज बंद होने के कारण आरोपित प्रधानाचार्य से भी वार्ता नहीं हो सकी है। सोमवार को कालेज खुलेगा तो इस संबंध में विस्तृत जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी॥। बड़़हलगंज कोतवाली पुलिस कर रही मामले की जांच॥

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper