प्राथमिक विद्यालयों में निःशुल्क पढ़ायेंगे लखनऊ विश्वविद्यालय के छात्र

लखनऊ ब्यूरो। उत्तर प्रदेश में प्राथमिक शिक्षा को और बेहतर बनाने के लिये लखनऊ विश्वविद्यालय सरकारी प्राइमरी स्कूलों को गोद लेगा।
प्राइमरी स्कूलों को गोद लेकर वहां बच्चों को पढ़ाने के लिये विश्वविद्यालय के छात्रों को भेजा जायेगा। प्राइमरी स्कूलों का चयन कर वहां विश्वविद्यालय के उन्हीं छात्रों को भेजा जायेगा,जिनका घर उस स्कूल के नजदीक होगा। गोद लेने की प्रक्रिया आगामी अप्रैल से शुरू कर दी जायेगी।

बच्चों को सही ढंग से शिक्षा देने वाले छात्र-छात्राओं को इसके लिये अंक दिये जायेंगे। उन अंको का लाभ छात्र-छात्राओं को परीक्षा में भी मिलेगा। प्राथमिक विद्यालयों में बच्चों को पढ़ाई के साथ ही अनुशासन और साफ-सफाई के बारे में भी बताया जायेगा। उन्हें सामाजिक ज्ञान भी दिया जायेगा। स्कूलों में विश्वविद्यालय के स्नातक, परास्नातक, एमबीए,बीबीए, बीएड आदि कक्षाओं में अध्ययनरत छात्रों को भेजा जायेगा।

प्राथमिक विद्यालयों के बाद माध्यमिक स्कूलों को भी गोद लिया जायेगा। माध्यमिक स्कूलों में भी यही अभिनव प्रयोग किया जायेगा। इस योजना में विश्वविद्यालय का एक भी पैसा खर्च नहीं होगा।

गौरतलब है कि अखिलेश यादव सरकार के कार्यकाल में इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने प्राथमिक विद्यालयों की दुर्दशा और पढ़ाई के स्तर पर तल्ख टिप्पणी की थी। न्यायालय ने जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों को अपने बच्चों को सरकारी प्राइमरी स्कूलों में एडमिशन कराने के आदेश दिये थे ।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper