प्रियंका गांधी और आगरा प्रशासन आमने-सामने, जानिए क्या है मुख्य वजह

आगरा. उत्तरप्रदेश के आगरा में कोरोना से मौतों को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और जिला प्रशासन आमने-सामने आ गए हैं। सुबह जिलाधिकारी के नोटिस जारी करने के बाद प्रियंका ने फिर दोहराया कि आगरा में अस्पताल में भर्ती होने के 48 घंटे के अंदर 28 लोगों की मौत हुई है। उन्होंने यह भी कहा, ‘‘आगरा मॉडल का झूठ फैलाकर इन विषम परिस्थितियों में धकेलने के जिम्मेदार कौन हैं? मुख्यमंत्रीजी 48 घंटे के भीतर जनता को इसका स्पष्टीकरण दें और कोविड मरीजों की स्थिति और संख्या में की जा रही हेराफेरी पर जवाबदेही बनाएं।’’

प्रियंका का आगरा में मौतों को लेकर 20 घंटे में यह दूसरा ट्वीट है। उन्होंने लिखा कि आगरा में कोरोना से होने वाली मौत की दर दिल्ली और मुंबई से ज्यादा है। यहां मृत्यदर 6.8% है। कोरोना से जान गंवाने वाले कुल 79 मरीजों में से 35% यानि 28 लोगों की मौत अस्पताल में भर्ती होने के 48 घंटे के अंदर हुई है।

प्रियंका ने सीएम ऑफिस की चिट्‌ठी भी पोस्ट की

प्रियंका ने उत्तरप्रदेश में कोरोना से मौतों के आंकड़ों में अंतर वाली मुख्यमंत्री कार्यालय की चिट्ठी को भी पोस्ट किया है। दरअसल, यह चिट्ठी मुख्यमंत्री कार्यालय के प्रमुख सचिव एसपी गोयल की तरफ से 18 जून को जारी हुई है। इसमें कहा गया है कि मुख्यमंत्री के सामने कोविड-19 से संक्रमित मरीजों की मौत संबंधित आंकड़े और वास्तविक आंकड़ों में फर्क हो रहा है। मौत से संबंधित वास्तविक आंकड़े ही पोर्टल पर फीड किए जाएं और उसी के अनुसार सूचना मुख्यमंत्री को सूचना दी जाए।

यह है पूरा मामला
दरअसल, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सोमवार दोपहर एक ट्वीट किया था। इसमें एक अखबार की वेबसाइट के हवाले से लिखा, ‘‘आगरा में 48 घंटे में भर्ती हुए 28 कोरोना मरीजों की मौत हो गई। यूपी सरकार के लिए कितनी शर्म की बात है कि इसी मॉडल का झूठा प्रचार करके सच दबाने की कोशिश की गई। सरकार की नो टेस्ट-नो कोरोना पॉलिसी पर सवाल उठे थे, लेकिन सरकार ने उसका कोई जवाब नहीं दिया। अगर यूपी सरकार सच दबाकर कोरोना मामले में इसी तरह लगातार लापरवाही करती रही तो बहुत घातक होने वाला है।’’

डीएम ने दिया ये जवाब

इसके जवाब में आगरा के डीएम प्रभु नारायण सिंह ने प्रियंका के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा, ‘‘जिस अखबार में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मौत के संबंध में डेथ ऑडिट का हवाला दिया गया है। पिछले 109 दिनों में आगरा में अब तक कुल 1136 केस और 79 की मौत हुई है। पिछले 48 घंटे में भर्ती हुए 28 कोरोना मरीजों की मृत्यु की खबर असत्य है।’’

24 घंटे के भीतर खंडन जारी करने के लिए कहा

इसके बाद डीएम ने नोटिस जारी करते हुए लिखा कि पोस्ट को देखने पर पहली नजर में भ्रम की स्थिति बन रही है। इसे देखकर लोगों में यह मैसेज जाता है कि 48 घंटे में 28 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मौत हुई है। जबकि सच्चाई ये है कि पिछले 48 घंटे में 28 मरीजों की मौत की खबर गलत और बेबुनियाद है। ऐसे में इस खबर का 24 घंटे के अंदर खंडन करें, ताकि लोगों को सही स्थिति की जानकारी मिल सके और इस महामारी में लगे हुए कर्मचारियों के मनोबल को ठेस न पहुंचे।

डीएम आगरा का प्रियंका गांधी को नोटिस

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper