प्रियंका ने थामी कमान, पायलट ने पार्टी में वापसी के लिए रखी 4 शर्तें

जयपुर. कांग्रेस पार्टी राजस्थान में अपना कुनबा बचाने में सफल होती नज़र होती आ रही हैं। सूत्रों के अनुसार सचिन पायलट ने पार्टी में उप मुख्यमंत्री का पद वापस मांगा हैं। इसके साथ ही उन्होंने अपने 4 सहयोगी साथियों के लिए मंत्री पद की मांग की हैं। इसके अलावा उन्होंने पार्टी से सुलह के लिए गृह मंत्रालय और वित्त मंत्रालय की भी अपनी चाह के बारे में बताया हैं। बताया जा रहा है कि प्रियंका गांधी ने यहां एहम भूमिका निभाई हैं। वह सचिन पायलट और अशोक गहलोत के बीच में पुल बनने का काम कर रही हैं। प्रियंका और राहुल गांधी जल्द ही सचिन से बात कर सकते हैं। राहुल गांधी के संदेश के साथ राजीव सातव शाम तक जयपुर पहुंचेंगे और पायलट से बात करेंगे। माना जा रहा है कि राजस्थान में पार्टी और सरकार को बचाने के लिए कांग्रेस की ओर से राजीव सातव अंतिम प्रयास करेंगे।

इससे पहले कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा,’ भाजपा कितने भी षडयंत्र करे, मोदी सरकार कितने भी प्रपंच रचे, भाजपा कितने भी हथकंडे अपनाये, ईडी, सीबीआई और आईटी कितनी भी छापेमारी करे वे चुनी हुई सरकार को नहीं गिरा पायेंगे क्योंकि यही राजस्थान की जनता का जनमत है। ‘ कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के बगावती तेवरों की ओर इशारा करते हुए सुरजेवाला ने कहा,’ कभी कभी वैचारिक मतभेद उत्पन्न हो जाता है जो प्रजातांत्रिक प्रणाली में स्वाभाविक है परन्तु वैचारिक मतभेद पैदा होने से चुनी हुई अपनी ही पार्टी की सरकार को कमजोर करना या भाजपा को खरीद फरोख्त का मौका देना अनुचित है, गैर वाजिब है।’

उन्होंने कहा,’ कांग्रेस की चुनी हुई सरकार राजस्थान की जनता की सेवा के लिये है। और अगर कोई मदभेद है तो कांग्रेस पार्टी के आलाकमान के सब दरवाजे सभी के लिये सदैव खुले थे, रहेंगे।’ एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा,’परिवार का हल परिवार में ही निकलेगा और यदि आप परिवार से टूटकर कहीं जायेंगे तो परिवार को भी नुकसान होगा और आपको भी नुकसान होगा और हमारे साथी बुद्धिमान है और मुझे विश्वास है कि वो ऐसा नहीं करेंगे।’ पार्टी नेतृत्व की पायलट के साथ बातचीत का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि पिछले 48 घंटों में सचिन पायलट से कांग्रेस नेतृत्व ने अनेक बार वार्तालाप और चर्चा की है। कांग्रेस के संगठन प्रभारी के सी वेणुगोपाल, कांग्रेस कार्यसमिति के कई वरिष्ठ सदस्यों से और कांग्रेस नेतृत्व से उपमुख्यमंत्री पायलट से कई बार मौजूदा राजनैतिक परिस्थिति पर चर्चा भी की है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper