प्रूडेंट ट्रस्ट से मिलने वाले फंड में कांग्रेस को बड़ा झटका, डोनेशन में 93% की आई कमी

नई दिल्ली: अगले साल यानी 2022 में उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं, ऐसे में सभी राजनीतिक पार्टियां इलेक्शन की तैयारियों में जुट गई हैं। इस बीच चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका लगा है, उसे मिलने वाले डोनेशन में 93 फीसदी से अधिक की गिरावट आई है, जबकि केंद्र में सत्ताधारी दल बीजेपी के खजाने में 2 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। चुनाव आयोग को सौंपे गए प्रूडेंट इलेक्टोरल ट्रस्ट के विश्लेषण से इन आंकड़ों का पता चलता है।

दरअसल, इस साल प्रूडेंट इलेक्टोरल ट्रस्ट से राजनीतिक पार्टियों को मिलने वाले योगदान में 9 फीसदी से अधिक की गिरावट आई है। इस वित्त वर्ष कुल 245.7 करोड़ रुपए का डोनेशन मिला है। जबकि इससे पहले वित्त वर्ष 2019-20 में प्रूडेंट इलेक्टोरल ट्रस्ट की तरफ से कुल 271 करोड़ रुपए की डोनेशन दी गई थी। कांग्रेस पार्टी को सबसे बड़ा झटका लगा है, क्योंकि इस वित्त वर्ष डोनेशन में पार्टी का हिस्सा 93 से अधिक गिर गया। कांग्रेस को पिछले साल 31 करोड़ रुपए का डोनेशन मिला था जो इस वर्ष सिर्फ 2 करोड़ है।

ममता को लेकर भी दिया ये बयान कांग्रेस के अलावा दिल्ली में सत्तारुढ़ दल आम आदमी पार्टी के डोनेशन में भी गिरावट आई है, इसके हिस्सेदारी में 84 प्रतिशत की कटौती की गई है। पिछले वित्त वर्ष आम आदमी पार्टी को प्रूडेंट इलेक्टोरल ट्रस्ट से 11.2 करोड़ रुपए मिले थे जबकि इस वित्त-वर्ष सिर्फ 1.7 करोड़ से ही पार्टी को संतोष करना पड़ा है। बता दें कि प्रूडेंट इलेक्टोरल ट्रस्ट देश के सबसे अमीर ट्रस्ट में शामिल है और इसका बड़ा हिस्सा बीजेपी को डोनेशन के तौर पर जाता है। इस वित्त वर्ष बीजेपी के लिए प्रूडेंट ट्रस्ट की हिस्सेदारी 2 फीसदी बढ़कर 209 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। यह पूरे डोनेशन का 85 फीसदी है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper