प्रेमिका की कब्र पर सोता था प्रेमी, 4 महीने बाद कब्र खुलवाने पर उड़े प्रेमी के होश

Uttar pradesh

उत्तर प्रदेश के सिम्भावली थाना क्षेत्र के मुरादपुर गांव से एक ऐसी कहानी सामने आई है जिसने लोगों के होश उड़ा दिया है। ये सच्ची कहानी है प्रेमी और प्रेमिका की। दरअसल, 4 महीने पहले प्रेमिका की मौत हो जाती है जिसके बाद उसके परिवार वाले आनन फानन में उसे दफना देते हैं। प्रेमिका को खोने का गम प्रेमी सह नहीं पाता है और वह हर रोज प्रेमिका के कब्र पर सोता है लेकिन अचानक एक दिन प्रेमी को एहसास होता है कि उसकी प्रेमिका की हत्या की गई है, जिसके बाद प्रेमी ने पुलिस से मदद की गुहार लगाई।

जब प्रेमी को एहसास हुआ कि प्रेमिका की मौत किसी प्राकृतिक घटना से नहीं बल्कि हत्या हुई, तो वह तुरंत पुलिस के पास गया और जांच पड़ताल करने की मांग की। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा तो सच्चाई सबके सामने आ गई। दरअसल, प्रेमिका की वाकई हत्या की गई थी, उसे उसके परिवार वालों ने कीटनाशक पदार्थ खिलाया था। यहां तक कि, प्रेमी के FIR के बाद उस पर जानलेवा हमला किया गया था। प्रेमिका के परिवार ने प्रेमी पर गोली चलवाई जिसमें दो लोग घायल हो गए हैं जिसमें से एक की हालत गंभीर बताई जा रही है। गंभीर रूप से घायल व्यक्ति को मेरठ रेफर किया गया है।

पुलिस के मुताबिक, प्रेमिका की मौत के 4 महीने बाद उसके प्रेमी ने FIR दर्ज करवाया। जांच आगे बढ़ाते हुए प्रेमिका की कब्र खोदी गई तो शव निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि प्रेमिका की हत्या की गई है, उसे कीटनाशक पदार्थ खिलाया गया था। फिलहाल, प्रेमिका के परिवार वालों के खिलाफ केस दर्ज कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि परिवार वालों को जब पता चला कि लड़की किसी से प्यार करती है तो ये बात उन्हें हजम नहीं हुई। इसके बाद उन्होंने उसे जबरदस्ती कीटनाशक दवा खिला दी और मरने के बाद उसे तुरंत दफना दिया गया। फिलहाल, पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी है।

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper