प्रेमिका के जाने से क्षुब्ध युवक ने लगायी फांसी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के हसनगंज के खदरा में शताब्दी स्कूल की प्रबंधक के मकान में किराए पर रहने वाले युवक ने प्रेमिका के मायके जाने से क्षुब्ध होकर जान दे दी। बुधवार सुबह उसका शव कमरे में लटका मिला। युवक करीब तीन हफ्तों से शादीशुदा महिला संग लिव इन रिलेशनशिप में रह रहा था। पुलिस ने दरवाजा तोड़कर शव को नीचे उतारा। पुलिस को कोई सुसाइड नोट नहीं मिला। पुलिस का मानना है कि प्रेमिका के मायके जाने व उसके पति की धमकियों से परेशान होकर युवक ने फंदा लगाया है।

मूल रूप से अमीनाबाद निवासी बृजेन्द्र कुमार (26) हसनगंज के रूपनगर खदरा में शताब्दी स्कूल की प्रबंधक नीलम शर्मा के मकान की तीसरी मंजिल पर किराए पर रहता था। वह सड़क किनारे बीएसएनएल के सिम बेचकर गुजारा करता था। बृजेन्द्र के साथ उसकी शादीशुदा प्रेमिका राजनंदिनी भी रहती थी। इंस्पेक्टर विमलेश कुमार सिंह ने बताया कि करीब हफ्ते भर राज नंदिनी का बृजेन्द्र से झगड़ा हुआ था। इसके बाद वह उसे छोड़कर मायके चली गयी थी। उसके बाद से वह काफी तनाव में था। मकान मालकिन नीलम शर्मा ने बताया कि बृजेन्द्र रोजाना सुबह दस बजे काम पर निकल जाता था। बुधवार सुबह दस बजे तक उसके कमरे का दरवाजा नहीं खुला।

शक होने पर उसने दरवाजा खटखटाया लेकिन कोई जवाब नहीं मिला तो उन्होंने कंट्रोल रूम पर सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा तोड़ा तो बृजेन्द्र का शव पंखे में रस्सी व गमछे से लटका मिला। पुलिस ने शव को नीचे उतरवाया। छानबीन की लेकिन कमरे में कोई सुसाइड नोट नहीं मिला। इंस्पेक्टर ने बताया कि बृजेन्द्र के परिवार में मां रजनी देवी, भाई अनूप व नवीन हैं। सूचना मिलते ही दोनों भाई वहां पहुंचे। भाई नवीन ने बताया कि करीब चार साल पहले बृजेन्द्र की शादी हुई थी लेकिन कुछ माह बाद ही अलगाव के चलते उनका तलाक हो गया था। इसके बाद से वह घर छोड़कर अलग-अलग जगह किराए पर रहता था। कुछ महीनों पहले बृजेन्द्र का आशियाना निवासी राज नंदिनी से प्रेम प्रसंग हो गया था। राज नंदिनी के चार बच्चे हैं।

करीब बीस दिन पहले बृजेन्द्र राज नंदिनी संग यहां रहने आया था। उसने मकान मालकिन से राज नंदिनी का परिचय पत्नी के रूप में कराया था। भाई का कहना है कि शादीशुदा राज नंदिनी के चक्कर में बृजेन्द्र फंस गया था।राज नंदिनी के पति ने भी बृजेन्द्र को जान से मारने की धमकी दी थी। इस बात की जानकारी उसने भाइयों को दी थी। लगातार मिलने वाले धमकियों से वह परेशान था। इंस्पेक्टर का कहना है कि कमरे में छानबीन की गयी लेकिन कोई भी सुसाइड नोट नहीं मिला। उनका कहना है कि शादीशुदा प्रेमिका के छोड़ने व उसके पति की धमकियों से आजिज आकर बृजेन्द्र ने मौत को गले लगाया है। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव परिवारवालों के सुपुर्द कर दिया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper