प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान भाजपा नेता जीवीएल नरसिम्‍हा पर फेंका गया जूता

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के मुख्‍यालय में गुरुवार दोपहर हंगामा हो गया। यहां एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के दौरान भारतीय जनता पार्टी के नेता जीवीएल नरसिम्‍हा पर जूता फेका गया। हालांकि जूता उनके पास से होकर गुजर गया। घटना के बाद हमला करने वाले शख्स को वहां मौजूद लोगों ने पकड़ लिया। बता दें कि जीवीएल नरसिम्‍हा उस वक्‍त साध्‍वी प्रज्ञा के नामांकन के ऊपर प्रेस कॉन्‍फ्रेंस को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान भूपेंद्र यादव भी उनके साथ प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में मौजूद थे।

जूता फेंकने वाले शख्‍स का नाम डॉ.शक्ति भार्गव बताया जा रहा है। यह कानपुर का रहने वाला है। फिलहाल भार्गव को हिरासत में लेकर पुलिस द्वारा पूछताछ की जा रही है। जूता फेंकने वाले भार्गव के पास से कानपुर के भार्गव हॉस्‍पिटल का विजिटिंग कार्ड मिला है। जब इंडिया टीवी ने भार्गव हॉस्‍पिटल से संपर्क किया तो अस्‍पताल की मालिक दया भार्गव ने अपने बेटे से किसी भी प्रकार के संबंध से इन्‍कार किया। उन्‍होंने कहा है कि शक्ति भार्गव का अस्पताल से कोई संबंध नहीं है।

किसी नेता पर जूता फेंकने का यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले तमाम नेताओं पर जूते फेंके गए हैं। साल 2016 में उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए रोड शो के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर सीतापुर में जूता फेंका गया था। जनवरी 2016 में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर पीके राय नाम के एक व्यक्ति ने जूता फेंका था। हालांकि उसे तुरंत गिरफ्तार कर लिया गया था। अप्रैल 2016 में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर वेद प्रकाश नाम के शख़्स ने जूता फेंका था।

वहीं, 2009 में पूर्व पीएम मनमोहन सिंह और बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी पर भी जूता फेंका गया था। इसके अलावा पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ और अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश पर जूता फेंकने का मामला भी खासा चर्चित रहा है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper