पढ़िए मिस वर्ल्ड मानुषी छिल्लर की कहानी उन्हीं की ज़ुबानी

मुबई: भारत की मानुषी छिल्लर ने मिस वर्ल्ड 2017 प्रतियोगिता में मिस वर्ल्ड का ताज जीत लिया। इस प्रतियोगिता में दुनियाभर की 118 सुंदरियों ने हिस्सा लिया था, जिसमें मानुषी ने सभी को पीछे छोड़ दिया। मानुषी की वजह से भारत ने 17 साल बाद यह गौरव हासिल किया है। 20 साल की मानुषी हरियाणा के सोनीपत से हैं। मानुषी के ताज जीतते ही पूरे देश में जोश और खुशी का माहौल है। मानुषी ने मिस वर्ल्ड को लेकर अपनी तैयारियों और चुनौतियों के बारे में बात की। अपने बारे में मानुषी बताती हैं, ‘मेरा जन्म रोहतक में हुआ था।

जब मैं सिर्फ एक साल की थी तब मेरे माता-पिता बेंगलुरु शिफ्ट हो गए थे, सात साल तक मैं बेंगलुरु में बड़ी हुई और उसके बाद हम दिल्ली शिफ्ट हो गए। इस समय मैं एक मेडिकल की छात्र हूं। मैं चिकित्सक बनने के लिए पढ़ाई कर रही हूं। मैं अपनी मेडिकल की पढ़ाई हरियाणा, सोनीपत के सरकारी कॉलेज से कर रही हूं।’

मानुषी अपने सफर के बारे में बताती हैं, ‘पहले मिस इंडिया और अब मिस वर्ल्ड का मेरा यह सफर बेहद रोमांचक रहा है। मुझे सिर्फ चार महीनों में अलग-अलग क्षेत्र के दिग्गज लोगों से मिलने का मौका मिला। जितना मैंने अब तक की जिंदगी में नहीं सीखा, उससे ज्यादा तो इन चार महीनों में लोगों से मिलकर सीखा है। जब एक 20 साल की लड़की को इतनी बड़ी जिम्मेदारी दी जाती है तो उससे उम्मीद भी बहुत होती है।’ मानुषी कहती हैं, ‘मेरे लिए यह गर्व की बात है कि मुझे भारत देश का प्रतिनिधित्व दुनिया के सामने करने का मौका मिला। भारत की पहली मिस वर्ल्ड रीता फारिया मेरी सबसे पसंदीदा विश्व सुंदरी रही हैं, वैसे मैंने सभी भारतीय सुंदरियों को फॉलो किया है।

मैं चाहती हूं कि दुनिया के लोग जब मुझे देखें तो वह भारत की सभ्यता और परंपरा को देखें। भारतीय परंपरा को दिमाग नहीं दिल से शो-केस किया जाता है। प्रतियोगिता को लेकर मैं बेहद नर्वस थी, जो प्राकृतिक था।’ मानुषी कहती हैं, ‘बचपन से मेरा सबसे पहला सपना दुनिया की सबसे खूबसूरत महिला यानी मिस वर्ल्ड बनना था। मैं जब नौवीं क्लास में थी तब से ही मैंने यह ठान लिया था कि मुझे डॉक्टर भी बनना है, इसकी एक वजह यह है कि मेरे माता-पिता दोनों ही डॉक्टर हैं, बचपन से उनके काम को देखकर मन में डॉक्टर बनने की बात थी।

अब सबसे पहले मैं अपनी मेडिकल की पढ़ाई पूरी करूंगी।’ खूबसूरती को अपने शब्दों में परिभाषित करती हुई मानुषी कहती हैं, ‘मैं बचपन से ही मिस वर्ल्ड के शो देखती और उन्हें ऑनलाइन फॉलो करती थी, मिस वर्ल्ड सिर्फ ग्लैमर की बात नहीं है, यह आपके अंदर की खूबसूरती को भी दर्शाता है। मेरे लिए खूबसूरती की परिभाषा यही है कि जो इंसान आत्मविश्वास से यह कह सकता है कि मैं खूबसूरत हूं, तो वह खूबसूरत है।’ मानुषी कहती हैं, ‘मिस वर्ल्ड की प्रतियोगिता के लिए मैंने अपने आपको तैयार करने के लिए रात-दिन एक कर दिया था। मुझे देश भर से प्यार मिला इसलिए यह सिर्फ मेरा नहीं बल्कि भारत देश भर की प्रतियोगिता थी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper