फर्जीवाड़ा कांग्रेस का चरित्र: योगी आदित्यनाथ

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल के पहले साल में भारत के लिए कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए जो भारत की एकता और 135 करोड़ जनता के हित में हैं। उन्होंने कहा कि आज देश प्रत्येक नागरिक के लिए रोटी की व्यवस्था और राम मंदिर निर्माण के मार्ग को प्रशस्त करने में सक्षम है। उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि फर्जीवाड़ा कांग्रेस का चरित्र है और आपदा के वक्त में भी वो ऐसा करने से बाज नहीं आई। कांग्रेस ने कामगारों व श्रमिकों को लेकर बस भेजने के नाम पर भद्दा मजाक किया है। कांग्रेस की कथनी और करनी देश की जनता जान रही है।

एक न्यूज चैनल के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अब तक 30 लाख श्रमिक व कामगार आ चुके हैं। प्रदेश सरकार का लक्ष्य है कि हम सभी को राज्य में काम देंगे। उन्होंने कहा कि सरकार ने कामगारों की समस्याओं के निराकरण और उनके समायोजन के लिए प्रदेश में एक आयोग गठित किया है। इसके साथ ही बाहर से आए कामगारों को रोजगार से जोड़ा जा सके इसके लिए उद्योगों का सर्वे करने के साथ साथ उनके संगठनों से बातचीत कर रोजगार की गारंटी को आगे बढ़ाया है। इसी क्रम में प्रदेश सरकार ने कई औद्योगिक संगठनों के साथ एमओयू भी साइन किया है। जिसमे 11 लाख श्रमिकों व कामगारों को समायोजित किया जाना है। प्रदेश सरकार हर कामगार व श्रमिक की स्किल मैपिंग करा रही है। प्रदेश में मनरेगा के तहत प्रतिदिन 40 लाख लोग काम कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का भारत को 5 ट्रिलियन की इकोनॉ़मी बनाने का जो संकल्प है वो जल्द पूरा होगा। उत्तर प्रदेश सरकार इसके लिए केंद्र सरकार के साथ हर कदम पर उनके साथ खड़ी है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रधानमंत्री मोदी के लोकल को वोकल और लोकल को ग्लोबल बनाने की दिशा में कार्य प्रारंभ कर दिया है। उत्तर प्रदेश में एमएसएमई सेक्टर का बड़ा हिस्सा है। एमएसएमई सेक्टर से ही आज प्रदेश एक लाख 16 हजार करोड़ रुपये का एक्सपोर्ट कर रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने लॉकडाउन के दौरान 95 फीसदी उद्योगों में मानदेय दिलवाने का काम किया है। प्रदेश के हर नागरिक के खाद्यान्न की व्यवस्था की गई। लॉकडाउन के दौरान भी प्रदेश में 119 चीनी मिलें, 12 हजार के अधिक ईंट भट्टे और ढाई हजार से ज्यादा कोल्ड स्टोरेज भी काम करते रहे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में किसी भी प्रकार की कोई समस्या नहीं है। उन्होंने भारतीय रेल का आभार जताते हुए कहा कि रेलवे द्वारा श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाईं गई जिनकी वजह से बाहर के राज्यों में फंसे श्रमिक व कामगार अपने -अपने राज्य में पहुंचे। उत्तर प्रदेश अपने सभी कामगारों व श्रमिकों को वापस लाने में कामयाब रहा है। जो लोग बचे हैं उन्हें भी सरकार जल्द वापस ले आएगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper