फर्जी टीचर केस: उत्तर प्रदेश में 192 शिक्षक ऐसे, जिनके नाम व पैन नंबर एक

लखनऊ: अनामिका की तलाश में बेसिक शिक्षा विभाग में शुरू हुई जांच में बड़ा मामला सामने आया है। बीकेटी के पूर्व माध्यमिक विद्यालय में तैनात शिक्षिका और देवरिया में पढ़ा रही शिक्षिका के नाम व पैन नम्बर एक जैसे पाए गए हैं। यहां तक की दोनों शिक्षिकाओं की जन्मतिथि भी एक ही है। मामला सामने आने के बाद विभाग में हड़कंप मच गया है। अधिकारी पता लगाने में जुट गए हैं कि दोनों शिक्षिकाएं एक ही तो नहीं है, जो दोनों जगह से वेतन ले रही हैं।

बीएसए दिनेश कुमार ने बताया कि पूर्व माध्यमिक विद्यालय सेवरिया में तैनात शिक्षिका और देविरया में तैनात शिक्षिका के नाम व पैन नम्बर एक जैसे पाए गए हैं। शिक्षिका को सभी दस्तावेजों के साथ मंगलवार को बुलाया गया था। दस्तावेजों की जांच के दौरान नाम व पैन नम्बर के साथ शिक्षिकाओं की जन्मतिथि भी एक ही पाई गई है लेकिन आधार कार्ड का नम्बर अलग-अलग है।

दिनेश कुमार ने बताया कि शुरूआती जांच में शिक्षिका की नियुक्ति व दस्तावेज सही लग रहे हैं। बीएसए देवरिया से वहां पर तैनात शिक्षिका के दस्तावेजों की जांच करने को कहा गया है। दो दिन बाद रिपोर्ट आ जाएगी। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। जानकारों का कहना है कि विभाग पता लगाने में जुटा है कि दोनों शिक्षिकाएं एक ही तो नहीं है।

192 शिक्षकों के पैन व नाम एक जैसे
बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों के मुताबिक पैन नम्बरों की जांच के दौरान प्रदेश भर के 192 शिक्षक-शिक्षिकाएं ऐसे सामने आए हैं, जिनके नाम व पैन नम्बर एक जैसे हैं। इसमें उन्नाव व कन्नौज की एक शिक्षिका का नाम व पैन नम्बर एक है। आगरा व मथुरा की शिक्षक का नाम व पैन नम्बर एक ही है। विभाग की ओर से इनकी जांच के आदेश दिए गए हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper