फर्जी परमिट मामले में लिप्त वांछित हुआ गिरफ्तार,फर्जी ई-प्रपत्र बिक्री से प्राप्त 1,88,000/- रुपये भी बरामद।

सोनभद्र, विगत 27 मई को जनपद के ज्येष्ठ खान अधिकारी आशीष कुमार द्वारा भण्डारण लाइसेंस की अवधि समाप्त होने के बाद भी अवैध ई-प्रपत्र-सी जनरेट कर राज्य सरकार को रायल्टी व खनिज मूल्य सहित लगभग 1,39,04,640/- रुपये के सरकारी राजस्व को क्षति पहुंचाने के सम्बन्ध में थाने को तहरीर दिया गया था जिसके आधार पर थाने में मु0अ0सं0-100/2023 धारा 419, 420, 467, 468, 471 भादवि व 3 लोक सम्पत्ति क्षति निवारण अधिनियम के अंतर्गत मे0एस0 कन्ट्रक्सन एण्ड सप्लायर्स बिल्ली मारकुण्डी के पार्टनर सत्यप्रकाश केशरी पुत्र धर्मनाथ केशरी निवासी शिवनगर कॉलोनी थाना ओबरा जनपद सोनभद्र,
दूसरे,मे0 मां दुर्गा माइनिंग एण्ड कन्ट्रक्सन मीतापुर पता प्रीतनगर चोपन गणेश कुमार अग्रवाल पुत्र रामनिवास अग्रवाल निवासी 14/364 राम मन्दिर कॉलोनी ओबरा सोनभद्र,
तीसरे, मे0 मां दुर्गा माइनिंग एण्ड कन्ट्रक्सन के कम्प्यूटर ऑपरेटर श्याम कुमार प्रजापति पुत्र अकलू प्रसाद निवासी जूड हरचन जनपद चन्दौली हाल पता- निवासी बिल्ली ओबरा जनपद सोनभद्र,
चौथे,आशुतोष मिश्रा पुत्र जवाहर मिश्रा निवासी गौरव नगर चोपन जनपद सोनभद्र,
पांचवें,रविकान्त पाण्डेय पुत्र दीनानाथ पाण्डेय हाल निवासी अहरौरा मीरजापुर,
व अन्य अज्ञात के विरुद्ध पंजीकृत किया गया । जिसकी विवेचना चौकी प्रभारी डाला उ0नि0 राजेश प्रताप सिंह द्वारा की जा रही है, विवेचना के दौरान यह तथ्य प्रकाश में आया कि घटना का मास्टर माइंड दीप चन्द द्विवेदी पुत्र जगदीश चन्द्र द्विवेदी निवासी विसुंदरपुर सिविल लाइन थाना कोतवाली शहर मीरजापुर है,जिसके द्वारा ई-प्रपत्र कूटरचित रुप से तैयार कर नामजद अभियुक्त रविकान्त पाण्डेय के माध्यम से अभियुक्त आशुतोष मिश्रा को दिया जाता था तथा आशुतोष मिश्रा द्वारा कूटरचित ई-प्रपत्र बेचा जाता था।
उपरोक्त घटना मे संलिप्त वांछित अभियुक्तों की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु डॉ0 यशवीर सिंह, पुलिस अधीक्षक जनपद सोनभद्र द्वारा अपर पुलिस अधीक्षक (मुख्यालय) तथा क्षेत्राधिकारी नगर को विशेष निर्देश दिये गये। उक्त के क्रम में क्षेत्राधिकारी नगर के पर्यवेक्षण में अभियुक्त रविकान्त पाण्डेय पुत्र दीनानाथ पाण्डेय निवासी परसहटा, थाना धानापुर जनपद चन्दौली को आज 26 जून को सुबह छपका रावर्ट्सगंज से गिरफ्तार किया गया तथा उसके पास से बेचे गए फर्जी ई-प्रपत्र से प्राप्त 188000/- रुपये भी बरामद किया गया ।

रवीन्द्र केसरी सोनभद्र

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
E-Paper