बंगाल में बोले अमित शाह- घुसपैठियों को चुन-चुन कर निकालेंगे बाहर

कोलकाता। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने बंगाल में सरकार बनाने के लिए चुनाव प्रचार पर जोर लगा रखा है। पहले चरण के लिये प्रचार के आखिरी दिन गुरुवार को पुरुलिया के बाघमुंडी क्रिकेट मैदान पर जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि बंगाल से घुसपैठियों को चुन-चुन कर बाहर निकालेंगे।

सभा में ममता बनर्जी और कम्युनिस्टों पर जमकर हमला बोलते हुए उन्होंने पुरुलिया में आजसु उम्मीदवार के समर्थन में वोट मांगा। अमित शाह ने कहा कि दीदी, कब तक रोकेगी? दो मई को दीदी को हटा दें, तीन मई से हर गरीब को स्वास्थ्य बीमा का पांच लाख रुपये मिलेगा। भाजपा की सरकार बनते ही हर किसान के बैंक एकाउंट में 18 हजार रुपये भेजे जायेंगे। जंगलमहल इलाके के विकास के लिए बोर्ड बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि जंगल महल में एम्स बनाया जाएगा। दीदी की मलेरिया और डेंगू से दोस्ती है। बंगाल से मलेरिया और डेंगू तभी जाएगा, जब दीदी जाएंगी। दीदी के गुंडे कुछ भी नहीं बिगाड़ पाएंगे, निर्भय होकर वोट दें।

अमित शाह ने कहा कि आदिवासी और कुर्मी महिलाओं को 33 फीसदी नौकरी का आरक्षण देंगे। हर ब्लॉक में एकलव्य मॉडल स्कूल बनाएंगे। महिलाओं से बस में कोई टिकट नहीं लगेगा। उन्होंने कहा कि दीदी की सरकार बदल दो, घुसपैठियों को चुन-चुन कर निकालने का काम भाजपा की सरकार करेगी। चाहे मतुआ समुदाय हो या नमोसूद्र समुदाय, सभी को भाजपा की सरकार नागरिकता देगी। मैं गारंटी लेता हूं कि एक भी गुंडा नहीं आएगा। कोई कुछ नहीं बिगाड़ेगा। दीदी के गुंडों से डरने से जरूरत नहीं है। चुनाव आयोग ने हर बूथ पर सेंट्रल फोर्स लगाई है। उन्होंने कहा कि इस बार बंगाल में 200 से अधिक सीटों पर भाजपा की जीत कोई नहीं रोक सकेगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper