बजट 2018-19: किसानों पर जेटली हुए मेहरबान

लखनऊ ट्रिब्यून ब्यूरो: वित्त मंत्री अरुण जेटली अपना 5वां आम बजट संसद में पेशकरते हुए किसानो के लिए बहुत कुछ करने का ऐलान किया है। हालांकि चुनाव को देखते हुए इसे चुनावी शगल माना जा रहा है लेकिन उम्मीद की जा रही है कि इसी बहाने किसानो की दशा सुधर जाए तो बड़ी बात है। अरुण जेटली ने बजट के पहले हिस्से में ही किसानों के लिए सौगातों की झड़ी लगा दी। उन्होंने अपने कहा कि मोदी सरकार भारतीय किसानों को सशक्त करने के लिए प्रतिबद्ध है। किसानो के बारे में अबतक जो बातें जेटली ने कही है अगर वह पूरा हो जाय तो किसान फिर आत्महत्या नहीं करेंगे।

अरुण जेटली ने कहा कि अब किसानों को उनकी लागत का डेढ़ गुना मिलेगा। उन्होंने कहा कि खरीफ का समर्थन मूल्य उत्पादन की लागत से डेढ़ गुना किया जाएगा। जेटली ने बताया कि इस साल 30 करोड़ टन फलों का उत्पादन हुआ है। सरकार का उद्देश्य है कि साल 2022 तक किसानों की आय को दोगुना कर दिया जाए। अपने भाषण में अरुण जेटली ने कहा कि हमारे 86 फीसदी से अधिक किसान लघु एवं सीमांत किसान हैं। उनके लिए ग्रामीण कृषि बाजारों का विकास भी किया जाएगा।

वित्त मंत्री ने ऐलान किया कि किसानों के लिए ई-नैम ग्रामीण बाजार बनाए जाएंगे। ताकि किसानों को भी डिजिटल किया जा सके। अनाज उत्पादन की चर्चा करते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बताया कि साल 2017-18 में हमारे देश में 275 मिलियन टन अनाज का उत्पादन किया गया। अरुण जेटली ने कहा कि आलू. प्याज और टमाटर के लिए उत्पादन के लिए मोदी सरकार ऑपरेशन ग्रीन की स्थापना करेगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper