बजट 2018-19: हर राज्य में होगा सरकारी मेडिकल कॉलेज

नई दिल्ली: वित्तमंत्री अरुण जेटली अपने बजट भाषण में कहा कि गरीबों को मुफ्त डायलेसिस सुविधा दी जाएगी। इसके अलावा कृषि उत्पादन रिकॉर्ड स्तर पर है। किसानों को सही भुगतान के लिए ई-सिस्टम बनाया जाएगा। साथ ही कृषि के लिए क्लस्टर विकास योजना लागू हो गई है। वित्त मंत्री ने बजट में यह घोषणा की है कि सरकार का लक्ष्य हर राज्य में सरकारी मेंडिकल कॉलेज खोलने का है। नए मेडिकल कॉलेज खुलने के बाद हर तीन संसदीय क्षेत्र में एक सरकारी मेडिकल कॉलेज हो जाएगा।

– गंगा किनारे बसे गांवों में शौचालय बनवाने पर जोर।
– लघु और छोटे उद्योगों के लिए विशेष सहायता के तहत 3794 हजार करोड़।
– दलितों के लिए 56 हजार करोड़ का फंड। आदिवासियों के लिए 39,135 करोड़ का फंड
– 3600 किलोमीटर पटरियों का नवीनीकरण किया जाएगा।
– रेलवे की सभी पटरियों को ब्रॉड गेज में बदला जाएगा। सभी ट्रेनों में वाई-फाई और सीसीटीवी लगाए जाएंगे।
– लोककल्‍याणकारी योजनाओं पर अपना खर्च बढ़ाएगी सरकार।
– सरकार अगले तीन वर्षों के दौरान सभी कर्मियों के लिए ईपीएफ के तहत 12 फीसदी का कंट्रीब्यूशन देगी।
– वित्‍त वर्ष 2018-19 के लिए सरकार ने स्‍वास्थ्य और शिक्षा से जुड़े प्रोग्राम्स के लिए 1.38 लाख करोड़ रुपए का आवंटन किया।
– टेक्‍सटाइल सेक्टर के लिए 7148 करोड़ रुपए का आवंटन, ताकि इस सेक्‍टर से जॉब का जेनरेशन हो सके।
– एजुकेशन क्वालिटी सुधारने के लिए टेक्नोलॉजी बड़ी भूमिका निभाएगी।
– हम एजुकेशन का डिजिटल विस्तार करेंगे। एजुकेशन में ब्लैकबोर्ड से डिजिटल बोर्ड लाएंगे।
– सरकार देश के 96 जिलों में 2600 अंडरग्रांउड वाटर इरीगेशन प्लान का आवंटन करेगी।
– वित्‍त वर्ष 2018-19 के लिए सरकार ने स्‍वास्‍थ्‍य और शिक्षा से जुड़े प्रोग्राम्स के लिए 1.38 लाख करोड़ रुपए का आवंटन किया।
– टीबी के मरीज को हर महीने 500 रुपए की मदद।
– राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण योजना लाएगी सरकार। देश की 40 फीसदी आबादी को हेल्थ बीमा मिलेगा।
– अस्पताल में भर्ती होने पर पांच लाख की मदद मिलेगी। तीन संसदीय क्षेत्र पर एक मेडिकल कॉलेज खोलेंगे।
– आयुष्मान भारत के तहत दो कार्यक्रमों की घोषणा।
– समार्ट सिटी मिशन के लिए सरकार 2.04 लाख करोड़ रुपए खर्च करेगी।
– मुद्रा लोन योजना के तहत वित्त वर्ष 2018-19 में सरकार 3 लाख करोड़ रुपए का लोन देगी, ताकि अधिक से अधिक संख्या में नए आंत्रप्रेन्योर्स सामने आएं और रोजगार के अवसर निकलें।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper