बजरंगबली की इस विधि से करें पूजा, शनिदेव का प्रकोप होगा शांत, कष्टों का होगा निवारण

नई दिल्ली: शास्त्रों में महाबली हनुमान जी की शक्तियों का उल्लेख किया गया है, ऐसा कहा जाता है कि अगर किसी संकट में व्यक्ति महाबली हनुमान जी का स्मरण करता है तो उसकी सभी परेशानियां हनुमान जी दूर करते हैं, महाबली हनुमान जी को बल, बुद्धि, विद्या, निर्भयता और शौर्य का प्रतीक माना गया है, महाबली हनुमान जी को संकट मोचन भी कहा जाता है, जो लोग इनकी आराधना करते हैं उनके ऊपर कभी भी कोई संकट नहीं आता है, अगर हम पौराणिक कथाओं के अनुसार देखें तो बजरंगबली ने शनि महाराज को कष्टों से मुक्त कराया था, महाबली हनुमान जी ने शनिदेव की रक्षा की थी, इसी वजह से शनि देव ने यह वचन दिया था कि जो भी महाबली हनुमान जी की उपासना करेगा उसको शनिदेव कभी भी कोई कष्ट नहीं देंगे, अगर किसी व्यक्ति के ऊपर शनि की साढ़ेसाती या ढैया चल रही है तो इस स्थिति में हनुमान जी की आराधना करना लाभदायक होता है।

अगर व्यक्ति महाबली हनुमान जी की पूजा अर्चना करता है तो इससे शनि महाराज का प्रकोप शांत हो जाता है, अगर आपके जीवन में किसी भी प्रकार का संकट या शनि की वजह से कोई बुरा प्रभाव चल रहा है तो आप हनुमान जी की विधि-विधान पूर्वक पूजा कीजिए, इससे हनुमान जी आपसे प्रसन्न होंगे और सभी संकटों से छुटकारा दिलाएंगे, आज हम आपको किस विधि से हनुमान जी की पूजा करके शुभ फल प्राप्त कर सकते हैं, इसके बारे में जानकारी देने वाले हैं।

मंगलवार और शनिवार के दिन इस तरह करें बजरंगबली की पूजा

महाबली हनुमान जी की पूजा आराधना करने के लिए मंगलवार और शनिवार का दिन अति उत्तम माना गया है, आप इस दिन सूर्य उदय के समय नहा कर “श्री हनुमते नमः” मंत्र का जाप कीजिए।

आप महाबली हनुमान जी को मंगलवार और शनिवार की सुबह तांबे के लोटे में जल और सिंदूर मिलाकर इनको अर्पित कीजिए।
अगर आप लगातार 10 मंगलवार या शनिवार तक महाबली हनुमान जी को गुड़ का भोग लगाते हैं तो इससे हनुमान जी प्रसन्न होते हैं, इसके अलावा आप लगातार 10 मंगलवार या शनिवार तक महाबली हनुमान जी के मंदिर में जाकर केले का प्रसाद अवश्य अर्पित करें।

आप प्रत्येक मंगलवार और शनिवार के दिन हनुमान चालीसा का पाठ अवश्य कीजिए।
अगर आप महाबली हनुमान जी के किसी मंदिर में चमेली का तेल और सिंदूर मिलाकर अर्पित करते हैं तो इससे आपको अपने जीवन में सफलता हासिल होती है परंतु आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आपको यह उपाय 3 मंगलवार या शनिवार तक करना पड़ेगा।
ऐसा कहा जाता है कि अगर व्यक्ति को शुभ फल की प्राप्ति करनी है तो कोई भी कार्य अपने सच्चे मन से करना पड़ता है, अगर आपके मन में विश्वास है और आप हनुमान जी की कृपा प्राप्त करना चाहते हैं तो यह कार्य आप अपनी श्रद्धा भाव के साथ करें, इसका आपको बेहतर परिणाम अवश्य हासिल होगा, इस विधि से पूजा करने से महाबली हनुमान जी का आशीर्वाद आपके ऊपर हमेशा बना रहेगा और शनि देव भी आपको परेशान नहीं करेंगे, इससे शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या से भी छुटकारा मिलता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper