बदल गया है सोशल मीडिया, फेसबुक से लेकर गूगल तक ने किए हैं बदलाव

नई दिल्ली: इंटरनेट के जमाने में सोशल मीडिया शक्तिशाली होता जा रहा है। उसके उभरने के बाद मीडिया जगत में बहुत बदलाव आया है। सोशल मीडिया के साथ जनता की आंखें और कान हर जगह पर रहने लगे हैं। अब वह कुछ टीवी चैनलों तक सीमित नहीं है। सोशल मीडिया एक ऐसा मंच है, जहां जनता की खरी राय सामने आती है। यहां तक कि पारंपरिक मीडिया चैनल और अखबार भी अब सोशल मीडिया में चल रहे ट्रेंड पर नजर रखने लगे हैं।

लोगों को साथ जोड़ने की इस क्षमता की वजह से सोशल मीडिया सामाजिक बदलाव लाने का एक बहुत महत्वपूर्ण उपकरण बन सकता है। हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से आयोजित कई आंदोलन सफल हुए हैं, जिनका सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। सोशल मीडिया की इस ताकत को देखते हुए इसमें आए दिन परिवर्तन भी देखने को मिल रहे हैं। गूगल ने खबरों में अपनी जगह बनाने के लिए काम शुरू कर दिया है। उसने लोकल न्यूज पर पकड़ बनाने के लिए एक नया एप लॉन्च कर दिया है, जिसका नाम है बुलेटिन।

इस एप के जरिए कोई भी शख्स अपने इलाके की खबर को पोस्ट कर पाएगा। इस एप के सहारे लोग अपने इलाके की खबर, फोटो और वीडियो या कोई संदेश इसमें पोस्ट कर सकता है। पोस्ट की गई खबरों को गूगल पर तवज्जो दी जाएगी। खबरें तो यह भी हैं कि इस एप के जरिए से गूगल सोशल मीडिया के किंग कहे जाने वाले फेसबुक को सीधी टक्कर देने की तैयारी में है।

पहले लोगों के पास अपनी जानकारी देने के लिए सिर्फ फेसबुक ही एक जरिया हुआ करता था, लेकिन अब इस एप के आने के बाद उन्हें दूसरा प्लेटफॉर्म भी मिल गया है। हालांकि गूगल ने इस एप को अभी भारत में लॉन्च नहीं किया, पर भारत जैसे बाजार को वह नजरंदाज नहीं कर सकता।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper