बलरामपुर अस्पताल में मरीज की मौत पर हंगामा

लखनऊ: बलरामपुर अस्पताल में सोमवार की शाम एक मरीज की मौत के बाद परिजनों ने हंगामा किया। यही नहीं कर्मचारियों से अभद्रता करते हुए तोड़फोड़ भी की। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने हंगामा शांत कराया लेकिन शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए देर रात तक बड़ी संख्या में पुलिस तैनात रही। अस्पताल प्रशासन ने इस मामले में जांच करवाने की बात कही। कैन्ट के सदर निवासी शशि कुमार उर्फ शेट्टी कनौजिया के सिर में गंभीर चोट लगी थी। पहले उसे किंग जार्ज चिकित्सा विविद्यालय (केजीएमयू) के ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया था।

अस्पताल प्रशासन के अनुसार केजीएमयू से उसे बीते रविवार को बलरामपुर अस्पताल रेफर कर दिया गया। यहां घायल को वार्ड नंबर 16 के बेड नंबर 10 में भर्ती कर इलाज शुरू किया गया लेकिन उसकी हालत गंभीर बनी हुई थी। सोमवार की देर शाम घायल की मौत हो गई। इसके बाद तीमारदारों ने हंगामा शुरू कर दिया। तीमारदारों का आरोप था कि इलाज के चलते घायल की हालत में काफी सुधार हो गया था। वह बोलचाल भी रहा था। सोमवार की देर शाम ग्लूकोज में गलत इंजेक्शन लगाकर चढ़ाया जा रहा था।

इसके कुछ ही देर बाद घायल की हालत बिगड़नी शुरू हो गई। इसी समय वार्ड में भर्ती कई और मरीजों को ग्लूकोज व इंजेक्शन लगाया गया।इनमें कई मरीजों ने हालत बिगड़ने की शिकायत की लेकिन डाक्टरों व नर्सों ने ध्यान नहीं दिया। इसके चलते घायल शशि ने दमतोड़ दिया। मरीज के भाई रोहित का आरोप था कि उपचार में लापरवाही के कारण मौत हुई है। नर्स ने एक इंजेक्शन लगाया था, उसके बाद मरीज की हालत और ज्यादा बिगड़ी।

इसके बाद मरीज की मौत हुई है। इलाज में लापरवाही का आरोप गलत अस्पताल में की गई तोड़फोड़ की सूचना पर वजीरगंज थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और हंगामा कर रहे तीमारदारों को समझा-बुझाकर शांत कराया। अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा. ऋषि कुमार सक्सेना मौके पर पहुंचे और पूरे प्रकरण की जांच करवाने का आश्वासन दिया। अस्पताल के निदेशक डा. राजीव लोचन ने बताया कि इलाज में लापरवाही व ग्लूकोज में गलत इंजेक्शन लगाने से घायल की मौत के आरोप गलत है। पहले ही हालत गंभीर होने से ही घायल की मौत होने की बात सामने आयी है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper