बलात्कार के आरोप में हर रोज बयान बदल रही युवती

मऊ: चुनावी रंजिश में बलात्कार का आरोप फिर पैसे की मांग में रकम मिलने के बाद समझौते में मुकदमें की वापसी का प्रस्ताव। यह हाल है बीते दिनों थाना घोसी में दर्ज बलात्कार के मामले का सच। जी हाॅ प्रथम द्रष्टया आरोपी को पुलिस के द्वारा पीटने के वायरल सच मे सस्पेंड दारोगा पर अब पैसे लेकर आरोपी को छोड़ने का भी आरोप रंग पर है।

थाना घोसी के एक गांव में अपनी मौसी के घर पर रह कर पढ़ाई करने वाली युवती ग्राम प्रधानी के चुनाव की शिकार हो गई। मौसी के गांव की राजनीति में फंस कर युवती ने एक युवक पर घर में बंद कर तेरह दिन तक बलात्कार करने का आरोप मढ़ दिया। बलात्कार के आरोपी दारोगा ने आरोपी को तुरंत हिरासत में लेकर उसके घिनौने कृत्य से आक्रोशित होकर उसकी पीटाई क्या कर दी कि साजिश रचने वाले ने पीटाई का वीडियो भी वायरल कर दिया।

वायरल सच को लेकर दारोगा को एसपी ने लाइनहाजिर कर पीटाई की सजा दे दी। सोमवार की सुबह को जब मामले में नये वाकये ने रंग दिखाया तो दारोगा को लाइनहाजिर की सजा देने वाले एसपी की जुबांन बंद हो गई। अब युवती हर रोज बयान बदलती हुई पुलिस पर आरोपी को पैसे लेकर छोड़ने का आरोप लगा रही है।

मामला अभी पुलिसियाॅ जांच में है देखना है मामले में पुलिस युवती के द्वारा सीआरपीसी की धारा 164 के बयान को लेकर जांच को आगे बढ़ा रही है। पुलिस सूत्रों पर यकीन करें तो मजिस्ट्रेट के समक्ष युवती के द्वारा दर्ज कराए 164 के बयान में आरोपी पर आरोप से इंनकार कर दिया है। मजे की बात यह रही है कि युवती की ओर से इस मामले में अपना मेडिकल कराने से इनकार दिया है। ब्रह्मा नन्द पांडेय/ईएमएस/आजमगढ-

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper