बसन्ती हत्याकांड: शादी में जाति रोड़ा बनी थी, इसी कारण काटा प्रेमिका का सिर

लखनऊ: बख्शी का तालाब पुलिस ने बसंती (24) हत्याकाण्ड का खुलासा करते हुए प्रेमी व उसके चचेरे भाई को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस का दावा है कि प्रेम प्रसंग में जाति रोड़ा बनने पर चिढ़े प्रेमी ने भाई संग मिलकर बसंती का सिर काटकर हत्या की थी। पुलिस ने आरोपितों के पास से मृतका का लूटा गया मोबाइल, घटना में प्रयुक्त चाकू व खून लगे कपड़े बरामद किये हैं।एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि भौली गांव के मजरे विश्रामपुर गांव में रहने वाला बेचालाल की बेटी बसंती कक्षा-8 तक की पढ़ाई करने के बाद ब्यूटी पार्लर व सिलाई-कढ़ाई करती थी।

बीते 21 जून की सुबह शमशेर बहादुर सिंह के बाग में बसंती का शव मिला था। धड़ से करीब बीस फीट दूर सिर मिला था। बसंती का मोबाइल फोन गायब था। लिहाजा पुलिस ने हत्या व लूट की रिपोर्ट दर्ज कर पड़ताल शुरू की। सर्विलांस की मदद से पड़ताल करने पर पुलिस की शक बसंती के प्रेमी अमित रावत व उसके चचेरे भाई राहुल रावत निवासी गायत्रीनगर नौबस्तीखुर्द मड़ियांव पर गहरा गया। जांच के दौरान दोनों की लोकेशन घटना की रात विश्रामपुर गांव में ही मिली। शक पुख्ता होने पर सोमवार तड़के इंस्पेक्टर बीकेटी तेज प्रकाश सिंह व सर्विलांस सेल प्रभारी सुधीर त्यागी की संयुक्त टीम ने नौबस्तीखुर्द में छापा मारकर राहुल रावत को पकड़ा। एसएसपी ने बताया कि पूछताछ में पहले राहुल बरगलाता रहा लेकिन सख्ती करने पर टूट गया।

उसने बड़े पापा के बेटे अमित रावत संग हत्या की बात कबूल कर ली। पूछताछ में राहुल ने कहा कि अमित डिगोही गांव में बहन के घर पर है। पुलिस वहां पहुंची तो वह भागने लगा। पुलिस ने दौड़ाकर उसे दबोच लिया। पुलिस ने उनकी निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त चाकू, मृतका का लूटा गया मोबाइल व खून लगे कपड़े बरामद किये।एसपी ग्रामीण डा. गौरव ग्रोवर ने बताया कि आरोपित राहुल व अमित पुताई कारीगर हैं। अमित की विश्रामपुर गांव में रहने वाले कुछ युवकों से दोस्ती थी लिहाजा वह वहां आता-जाता रहता था। उसी दौरान अमित और बसंती की दोस्ती हुई और उनके बीच प्यार हो गया। अमित ने कबूला कि उसने बात करने के लिए एक मोबाइल बसंती को खरीदकर दिया था। उनके बीच फोन पर बातचीत व मुलाकात होने लगी। आरोपित अमित बसंती से शादी करना चाहता था लेकिन दूसरी बिरादरी का होने के चलते वह शादी के खिलाफ थी।

यह बात अमित को बहुत बुरी लगी थी। कुछ दिन पहले अमित को पता चला कि बसंती की शादी उसके घरवाले कहीं और करना चाहते हैं। इस पर उसने ठान लिया कि अगर बसंती उसकी नहीं हो सकती तो किसी की नहीं होगी। उसने चचेरे भाई राहुल संग मिलकर बसंती की हत्या की योजना बनायी।इंस्पेक्टर तेज प्रकाश सिंह ने बताया कि 20 जून की शाम करीब सात दोनों बसंती के गांव पहुंचे। अमित ने बसंती को फोन कर आखिरी बार मिलकर बात करने के बहाने बुलाया। अंजान बसंती बहकावे में आकर रात में खेत पर आ गया। इसी बीच मौका देख अमित ने जोरदार वारकर बसंती का सिर धड़ से अलग कर दिया। हत्या के बाद सिर उठाकर कुछ दूरी पर फेंका और मोबाइल लूटकर भाग निकले थे। पुलिस ने अमित व राहुल को जेल भेज दिया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper