बसपा लोस की 30 सीटों पर पेश कर सकती है दावा

लखनऊ: आगामी लोकसभा चुनाव में विपक्षी दलों का महागठबंधन होने पर बहुजन समाज पार्टी 30 सीटों पर अपना दावा पेश कर सकती है। इनमें ज्यादातर वही सीटें हैं जिस पर पिछले लोकसभा चुनाव में बसपा प्रत्याशियों ने सतारूढ़ भाजपा प्रत्याशियों को कड़ी टक्कर दी थी। इस कारण भाजपा प्रत्याशी मामूली मतों के अंतर से चुनाव जीत सके थे। 30 लोस सीटों में बिजनौर तथा अम्बेडकरनगर की सीट पार्टी प्रमुख सुश्री मायावती के लिए सुरक्षित रहेगी।

जानकारों का कहना है कि बसपा प्रमुख इन दोनों सीटों में से एक सीट से लोकसभा चुनाव लड़ सकती हैं।प्रदेश में लोस चुनाव को लेकर विपक्षी दलों में महागठबन्धन को लेकर अभी स्थिति स्पष्ट नहीं है। लोकसभा चुनाव में महागठबन्धन होने पर बहुजन समाज पार्टी जिन 30 सीटों पर दावा पेश कर सकती है, उनमें बिजनौर, सन्तकबीरनगर, नोएडा, अमरोहा, सीतापुर, मोहनलालगंज, डुमरियागंज, सलेमपुर, आगरा, घोसी, लालगंज (आजमगढ़), मछलीशहर, गाजीपुर, रार्बट्सगंज, फतेहपुर, हमीरपुर, जालौन, गाजियाबाद, हाथरस, अलीगढ़, मेरठ, मुजफ्फरनगर, फैजाबाद, बांदा, अम्बेडकरनगर, बुलन्दशहर, पालीभीत व शाहजहांपुर प्रमुख हैं। सूत्रों के मुताबिक यूपी की लोकसभा की 80 सीटों में से उक्त 30 सीटों पर दलित मतदाता निर्णायक साबित होते हैं।

शायद यही वजह है कि पिछले लोकसभा चुनाव में बसपा प्रत्याशियों ने भाजपा प्रत्याशियों को कांटे की टक्कर दी है। बसपा समाजवादी पार्टी व कांग्रेस के प्रभाव वाली सीटों पर दावेदारी नहीं करना चाहती है, ताकि गठबन्धन की राह में कोई रोड़ा न आ सके। बसपा के शीर्ष नेतृत्व ने महागठबन्धन के तहत 30 सीटों पर दावा करने की फामरूले पर मुहर लगा दी है। महागठबन्धन व सीटों के बंटवारे की घोषणा हो न हो, पर बसपा ने इन सीटों पर फोकस कर रणनीति बनानी शुरू कर दी है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper